- मामला 1.92 करोड़ के गहने गायब का

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। एमएस मणप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड केरल की ग्वालियर की तिजोरी से एक करोड़ 92 लाख के सोने के जेवर तथा 18 पैकेट गायब होने के मामले में कंपनी के मैनेजर ऋषि कुमार गुप्ता के अग्रिम जमानत आवेदन को न्यायालय ने खारिज कर दिया।

एमएस मणप्पुरम फाइनेंस लिमिटेड चलपद केरल के प्रतिनिधि पंकज कुमार ने एसपी ग्वालियर को आरोपी ऋषि कुमार, गजेन्द्र सिंह एवं दिलीप सिंह रावत के खिलाफ लिखित शिकायत की कि उनकी कंपनी अपनी शाखाओ के माध्यम से सोने के बदले रुपए उधार देती है। शाखा प्रमुख शाखा के कार्य पर नियंत्रण रखता है। शाखा प्रमुख और सहायक शाखा प्रमुख संयुक्त संरक्षक है। ये शाखा में संपत्ति की सुरक्षित अभिरक्षा के लिए जिम्मेदार है, तिजोरी की पहली चाबी शाखा प्रमुख के पास और दूसरी चाबी सहायक शाखा प्रमुख के पास होती है। इनका कर्तव्य तिजोरी में रखे गए सोने, नगदी व दस्तावेजों को सुरक्षित रखने का है। ऑडिट में 4297.70 ग्राम सोने के गहने तथा 18 पैकेट विजोरी से गायब मिले है। इससे कंपनी को । करोड़ 92 लाख 2 हजार 117 रुपए की हानि हुई है। कंपनी की शिकायत पर आरोपी ऋषि कुमार गुप्ता के खिलाफ भादंसं की धारा 406 तथा 409 के तहत बहोड़ापुर थाने में मामला दर्ज किया गया।

आरोपी गुप्ता ने यह कहते हुए अग्रिम जमानत आवेदन पेश किया था कि उसे इस मामले में झूठा फंसाया गया है। जबकि तिजोरी की चाबी असिस्टेंट मैनेजर राजेन्द्र सिंह रावत के पास रहती है। इस मामले में शासन की ओर से आरोपी के आवेदन का विरोध करते हुए कहा गया कि कंपनी का सोना पुलिस को अभी बरामद करना है। यदि आरोपी को जमानत का लाभ दिया जाता है तो आरोपी से सोने की बरामदगी नहीं हो सकती है। न्यायालय ने सभी पक्षों को सुनने के बाद मैनेजर गुप्ता के अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज कर दिया।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close