वरुण शर्मा, ग्वालियर नईदुनिया। एंटी माफिया मुहिम के तहत जिला प्रशासन ने कुछ दिन पहले छह करोड़ की सरकारी जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराया था। अब इस जमीन की निगरानी की जाएगी। एसडीएम ने इसके लिए अमले को निर्देश दिए हैं कि जमीन पर दोबारा कब्जा नहीं होना चाहिए। वही कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने कहा है कि अब माफिया से मुक्त जमीनों की निगरानी कराई जाएगी। इस जमीन पर भैंसों का तबेला और मकान बना रखा था।

भू माफिया अनिल राजावत ने बीस हजार वर्ग फीट सरकारी जमीन पर कब्जा कर रखा था। इसमें चार हजार वर्ग फीट पर मकान का निर्माण कर रखा था, लेकिन इसमें परिवार नहीं रहता था। शेष भूमि पर तबेले का संचालन किया जा रहा था। थ्रीडी मशीन की मदद से तुड़ाई की गई और निगम अमले और पुलिस बल के साथ यह कार्रवाई हुई। कार्रवाई के बाद थाने में अतिक्रामक के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज करा दी गई है। एसडीएम झांसी रोड सीबी प्रसाद ने बताया कि कुछ दिनों पहले ही वह क्षेत्र के भ्रमण पर थे और मांडरे वाली माता मंदिर की पहाड़ी के पास शासकीय भूमि पर तबेला नजर आया। इसके बाद कार्रवाई की प्लानिंग की गई और मंगलवार को तुड़ाई की कार्रवाई की गई। पुलिस टीम और नगर निगम के मदाखलत अमले को कार्रवाई के लिए मौके पर बुलाया गया। कार्रवाई सर्वे क्रं 1479 पर की गई है। आरआइ राकेश श्रीवास्तव व पटवारी धर्मेंद्र शर्मा ने थाने में जाकर अतिक्रामक अनिल राजावत के खिलाफ एफआइआर भी दर्ज करा दी। एसडीएम ने बताया कि सरकारी जमीन पर कब्जा हटाने के बाद उसकी निगरानी भी बहुत जरूरी है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local