बलबीर सिंह, ग्वालियर नईदुनिया। जीवाजी विश्वविद्यालय में एनएसयूआइ के कार्यकर्ताओं ने फर्जी मार्कशीट कांड काे लेकर जमकर हंगामा किया। जब विश्वविद्यालय के अधिकारी एनएसयूआइ नेताओं से बात करने पहुंचे ताे बहस की स्थिति बन गई। इसी दाैरान एक छात्र यूनिवर्सिटी के प्रशासनिक भवन पर चढ़ गया और आत्महत्या का प्रयास किया। हालांकि कार्यकर्ताओं ने जैसे-तैसे उसे समझाइश देकर छत से नीचे उतारा।

जीवाजी यूनिवर्सिटी में एनएसयूआइ प्रदेश सचिव सचिन भदौरिया के नेतृत्व में फर्जी मार्कशीट कांड काे लेकर कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। छात्रों की मांग है कि कालेज प्रशाशन व यूनिवर्सिटी में फर्जीवाड़े में जो आधिकारी कर्मचारी लिप्त हैं, उन पर एफआइआर दर्ज कराई जाए। सीएसपी रत्नेश तोमर ने छात्र नेताओं काे समझाइश दी कि इस प्रकार हंगामा करने से कुछ नहीं हाेगा, बेहतर हाेगा की आप सभी लाेग शांति से बैठकर अपनी मांगे विश्वविद्यालय प्रशासन काे बताए। इसके बाद एनएसयूआइ नेताओ के प्रतिनिधि मंडल ने ऊपर जाकर रजिस्ट्रार से चर्चा की। रजिस्ट्रार ने बताया कि पीड़ित छात्र मुझे एक आवेदन दें और उस आवेदन पर में कार्रवाई करते हुए मुरैना ,ग्वालियर पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखूंगा और यूनिवर्सिटी व कालेज अन्तर्गत थाने में पीड़ित छात्र व यूनिवर्सिटी आधिकारी कर्मचारी जो भी लिप्त हैं, उन पर एफआइआर दर्ज की जाएगी। प्रदर्शन करने वालाें में वंश माहेश्वरी, सचिन शुक्ला,उदित,रवि शर्मा, बेटू साहू,मोहित भदौरिया, अभिषेक, आदि एनएसयूआइ कार्यकर्ता शामिल थे।

छत पर चढ़ा विद्यार्थीः कालेज परिसर में नारेबाजी के दाैरान एक छात्र प्रशासनिक भवन की छत पर चढ़ गया। इस दाैरान वहां माैजूद पुलिस बल एवं यूनिवर्सिटी के गार्डाें ने उसकाे नीचे उतारने का काेई प्रयास नहीं किया। जिससे एनएसयूआइ कार्यकर्ताओं का गुस्सा अधिक भड़क गया। छात्र काे समझाबुझाकर नीचे उतारा गया।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local