ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। नई दिल्ली से चलकर ग्वालियर, वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन झांसी और भोपाल स्टेशन होते हुए रानी कमलापति स्टेशन तक जाने वाली भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस सहित राजधानी और दुरंतो एक्सप्रेस में यात्रियों को ई-बुक और ई-मैगजीन की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। यात्री अपने मोबाइल व लैपटाप जैसी डिवाइस पर इन ई-किताबों को डाउनलोड कर सकेंगे। भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस में यह सुविधा आगामी नवंबर माह से शुरू कर दी जाएगी।

डिजिटल इंडिया मिशन के तहत रेलवे द्वारा इन प्रीमियम क्लास ट्रेनों के यात्रियों को यह सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। यात्रियों को टिकट के साथ ही विकल्प दिया जाएगा कि वे ई-बुक की सुविधा लेना चाहते हैं या नहीं। हालांकि रेलवे शुरूआत में यह किताबें फ्री में उपलब्ध कराएगा, लेकिन बाद में इसके लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कार्पोरेशन (आईआरसीटीसी) द्वारा पैकेज तय कर लिया जाएगा। इसमें सस्ती कीमतों पर यात्री अपने मोबाइल या लैपटाप जैसी डिवाइसों में इन किताबों को डाउनलोड कर पढ़ सकेंगे। दरअसल, इन प्रीमियम ट्रेनों में आरामदायक सफर के साथ यात्रियों को समय गुजारने के लिए कोई साधन उपलब्ध नहीं होते हैं। कुछ यात्री अपने साथ अखबार या मैगजीन लेकर चलते हैं। इसको देखते हुए अब आईआरसीटीसी ने ई-मैगजीन के विकल्प पर काम करना शुरू किया है। इस परियोजना के लिए आईआरसीटीसी द्वारा पांच हजार बुक सेलर्स से मैगजीन को ई-फार्मेट में उपलब्ध कराने के लिए एमओयू किया जाएगा। इसके बाद हिंदी, अंग्रेजी सहित अन्य क्षेत्रीय भाषाओं में इन ई-मैगजीन को यात्रियों को उपलब्ध कराया जाएगा। आईआरसीटीसी द्वारा निर्धारित पैकेज सस्ता इसलिए होगा, क्योंकि इसमें किताबों की पीडीएफ फार्मेट आनलाइन मिलेगा। इससे किताबों के प्रकाशन का खर्चा भी बुक सेलर्स को नहीं करना होगा। इसके अलावा यात्रियों को यह फायदा होगा कि वे अपने पसंदीदा लेखकों की किताबों को सस्ती कीमतों में पढ़ सकेंगे। साथ ही उन्हें किताबें खरीदने के लिए ट्रेन से उतरने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close