- सामूहिक दुष्कर्म करने का मामला

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। सामूहिक दुष्कर्म के आरोपित होटल रमाया के संचालक की तलाश पुलिस कर रही है, वह अंडरग्राउंड हो गया है। वहीं पुलिस अफसरों के पास उसकी गिरफ्तारी रोकने के लिए रसूखदारों के फोन पहुंच रहे हैं। पुलिस अफसर दबी जुबान में यह बात बोल रहे हैं। उसके घर, होटल और करीबीयों पर भी पुलिस निगाह रखे हुए है। शुक्रवार को फोर्स ड्यूटी के लिए रवाना हो गया, इसके चलते भी उसकी गिरफ्तारी को लेकर विशेष प्रयास नहीं हो सके।

होटल रमाया के संचालक रामनिवास शर्मा ने बड़ागांव इलाके में किराए से रहने वाली 32 वर्षीय महिला को नौकरी दिलाने के बहाने अपनी बोलेरो में बैठाया। इसके बाद वह उसे अपने नौकर अमित मिश्रा के बलवंत नगर स्थित घर पर ले गया। यहां रामनिवास शर्मा और अमित मिश्रा ने महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। महिला के साथ तीन बार दुष्कर्म हुआ। जब महिला यहां से बचकर भागी तो दोनों आरोपितों ने फोन पर लगातार उसे धमकाया, लेकिन महिला ने यूनिवर्सिटी थाने पहुंचकर एफआइआर दर्ज करा दी। यूनिवर्सिटी पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म और धमकाने की धाराओं में एफआइआर दर्ज की थी। नौकर अमित मिश्रा को तो पुलिस ने एफआइआर के तत्काल बाद ही गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन आरोपित रामनिवास शर्मा अभी तक नहीं पकड़ा जा सका है। पुलिस अफसरों का दावा है कि उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा। उसे पकड़ने के लिए लगाए गए एक पुलिस अफसर ने दबी जुबान में नईदुनिया को बताया उसकी गिरफ्तारी रोकने के लिए रसूखदार लोगों के फोन आ रहे हैं। लेकिन पुलिस अफसरों ने घटना की गंभीरता को देखते हुए इनकार कर दिया। पुलिस उसके स्वजन और करीबीयों पर भी दबाव बना रही है, आरोपित का मोबाइल सर्विलांस पर लगा है, लेकिन उसने मोबाइल बंद कर रखा है। पुलिस आसपास के जिलों में उसके करीबीयों के बारे में पड़ताल कर रही है, जो उसकी फरारी काटने में मदद कर सकते हैं।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close