- जरूरतमंदों को आश्रय और अपनों से मिला रही आश्रम की टीम

- सुबह नाश्ता और सुबह-शाम भोजन करा रहे शहरवासी

PitrPitru Paksha 2021: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में बेसहारा, गरीब, लाचार, बीमार या मानसिक रूप से विक्षिप्त लोगों के उपचार व आश्रय और उन्हें वापस अपनों से मिलाने के उद्देश्य से स्वर्ग सदन आश्रम खोला गया है। श्राद्धपक्ष के दौरान शहर के कई लोग आश्रम में जरूरतमंदों को भोजन कराने आते हैं। इसके लिए कई शहरवासियों ने अग्रिम बुकिंग कर रखी है। पूरे श्राद्धपक्ष में एक भी दिन खाली नहीं है, कई लोग इंतजार में हैं।

आश्रम के संचालक विकास गोस्वामी बताते हैं कि गत वर्षों से कोरोना संक्रमण के चलते ज्यादातर लोग पितरों की आत्म शांति के लिए आश्रम में भोजन नहीं करा पाए थे। इस वर्ष स्थितियां सामान्य होने से श्राद्धपक्ष के पहले ही आश्रम में खाना खिलाने के लिए बुकिंग चालू कर दी थी। इससे लोगों ने पूर्व में भी भोजन के लिए बुकिंग करा दी थी। अभी भी कई लोग इंतजार में हैं, जिनसे हम दूसरे आश्रमों में खाना खिलाने की बोल रहे हैं। आश्रम में वर्तमान में 53 लोग रह रहे हैं। इन्हें खाना खिलाने 48 लोगों ने बुकिंग करा रखी है। इनके द्वारा श्राद्धपक्ष में सुबह नाश्ता, दोपहर एवं शाम को खाना दिया जा रहा है।

सादा भोजन: आश्रम में रहने वाले अधिकांश लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित हैं, इसलिए इनके खाने का विशेष ध्यान रखा जाता है। श्राद्धपक्ष के दौरान भी इन्हें सादा खाना ही खिलाया जाता है। इन्हें नाश्ते में पोहा, दलिया, खिचड़ी और खाने में दाल-रोटी, सब्जी, सादा चावल या पुलाव व मीठे में खीर या हलवा दिया जाता है।

स्वर्ग सदन आश्रम

आश्रम की स्थापना जून 2018 में विकास गोस्वामी द्वारा की गई। तब इनके पास आश्रम के लिए कोई निश्चित स्थान नहीं था। बाद में जनवरी 2020 में नगर निगम ने इन्हें स्थान उपलब्ध कराया। गोस्वामी के पास आज 10 लोगों की टीम है, जो आश्रम के संचालन में कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रही है। इनके सतत प्रयास एवं प्रशासन के सहयोग से शहर में भटक रहे 38 मानसिक रोगियों को अपने परिवार से मिलाया जा चुका है। यह लोग भारत के अलग-अलग क्षेत्रों से थे।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local