ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर में रविवार काे सुबह तेज धूप थी, लेकिन दाेपहर 2 बजे बाद अचानक माैसम बदल गया। आसमान में घने काले बादल छा गए, जिससे लाेगाें काे गर्मी से राहत मिली। ग्वालियर में कुछ इलाकाें में तेज बारिश हुई, हालांकि यह सिलसिला महज 20 मिनिट ही चला। जबकि लश्कर में केवल बादल छाए, यहां पर पानी नहीं बरसा। बादल छाने से लाेगाें काे तपन का अहसास कम हुआ।

इस बार अंचल मार्च से ही भीषण गर्मी का सामना कर रहा है। मार्च में गर्मी ने रिकार्ड तोड़ दिया था। उसके बाद अप्रैल में भी सूरज नहीं झुका। अप्रैल में लू के दिन ज्यादा दर्ज हुए। अधिकतम तापमान 45 डिग्री तक दर्ज हो गया था। सीजन की शुरुआत से ही शहर भीषण गर्मी का सामना कर रहा है। मई में अधिकतम तापमान 46.6 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचा है। शहर अब मानसून से राहत की उम्मीद लगाए हुए है। रविवार काे दाेपहर में जब आसमान में काली घटाएं छाईं ताे लाेगाें ने चेन की सांस ली। वहीं आनंद नगर, बहाेड़ापुर, शील नगर जैसे कुछ अन्य इलाकाें में तेज बारिश भी हुई है।

20 से 26 के बीच का मौसमः

-20 मई को अधिकतम तापमान 46.4 डिसे रिकार्ड हुआ था। इस सप्ताह का पहला दिन काफी गर्म रहा, लेकिन जम्मू कश्मीर में 22 मई को पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है। इस कारण 22 से 24 मई के बीच शहर को गर्मी से पूरी राहत रहेगी। आंधी का दौर चलेगा और बादल छाएंगे, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ के गुजर जाने के बाद 25 मई से तापमान बढ़ना शुरू हो जाएगा। 25 मई से नौतपा शुरू हो रहे हैं।

-27 मई से 2 जून के बीच तापमान 45 डिग्री सेल्सियस के ऊपर पहुंच सकता है। इस बीच लू की वापसी की संभावना है। इस सप्ताह भीषण गर्मी का दौर आएगा।

-3 से 9 जून के बीच मानसून पूर्व की हलचल शुरू हो जाएंगी। इससे तापमान में गिरावट आएगी और 40 से 43 डिग्री सेल्सियस के बीच तापमान दर्ज होगा।

-10 से 16 जून के बीच मानसून पूर्व की हलचल तेज हो जाएंगी। 10 से 20 मिमी तक बारिश दर्ज होगी। तापमान कम रहेगा, लेकिन उमस वाली गर्मी का सामना करना होगा।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close