ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

प्रदेश के ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह एक दिवसीय प्रवास पर सोमवार को ग्वालियर आएंगे। सुबह वीआईपी सर्किट हाउस में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे। इसके अलावा पार्षद, विधायकों से भी अलग-अलग की बैठक लेंगे। इसके अलावा बिजली कंपनी के अधिकारियों की बैठक लेंगे। ऊर्जा मंत्री के सामने जनप्रतिनिधि अघोषित बिजली कटौती का मामला उठाएंगे। बिजली के बिलों में अनियमितता के साथ भुगतान के लिए की जा रही तानशाही का मामला भी जनप्रतिनिधि मंत्री के सामने रखेंगे।

ऊर्जा मंत्री प्रियव्रत सिंह सोमवार की सुबह साढ़े 9 बजे वीआईपी सर्किट हाउस मुरार में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से चर्चा करेंगे। 30 मिनट कार्यकर्ताओं से चर्चा करने के बाद सुबह 10 बजे चैंबर ऑफ कॉमर्स के लिए रवाना होंगे। यहां 11ः30 बजे तक स्थानीय पार्षदगण व जनप्रतिनिधियों से चर्चा करेंगे। साथ ही व्यापारियों की भी समस्या सुनेंगे। दोपहर 12 से 1 बजे के बीच आईआईटीएम में विधायकों से चर्चा करेंगे। इस बैठक में बिजली कंपनी के प्रबंध संचालक मध्य क्षेत्र एवं मुख्य अभियंता भी उपस्थित रहेंगे।

अधिकारियों की बैठक लेंगे-

आईआईटीएम के सभागार में अधिकारियों से क्षेत्र की बिजली वितरण व्यवस्था पर चर्चा करेंगे। इस बैठक में स्थानीय मंत्री भी उपस्थित रहेंगे।

भुगतान नहीं होने पर बिजली काटने से पहले नोटिस देना चाहिए-

विधायक प्रवीण पाठक ने बताया कि ऊर्जा मंत्री से दक्षिण क्षेत्र में उपभोक्ता केंद्र प्रारंभ करने का अनुरोध करेंगे। क्योंकि क्षेत्र के लोगों को अभी अपनी छोटी-छोटी समस्या के निराकरण के लिए रोशनी घर जाना पड़ता है। प्रवीण पाठक ने बताया कि वह ऊर्जा मंत्री के सामने इस बात को उठाएंगे कि बिजली के बिलों में भारी अनियमितताएं होती हैं। इसके अलावा बगैर उपभोक्ता को नोटिस दिए उसकी बिजली काट दी जाती है। भले ही उपभोक्ता किसी परेशानी के कारण समय पर बिजली का बिल जमा नहीं कर सका हो, लेकिन बिजली कटने से वह पड़ोसियों के सामने अपमानित महसूस करता है। बिजली काटने से पहले 15 दिन का नोटिस दिया जाना चाहिए।

Posted By: Nai Dunia News Network