ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। देश के विभिन्न राज्यों में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और चौथी लहर की दस्तक के चलते रेलवे ने स्टेशन के प्लेटफार्म व ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों के लिए मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा यात्रियों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की भी सलाह दी गई है। इसके बावजूद ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर यात्री इन नियमों को लेकर जागरुक नहीं हो रहे हैं। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि यदि यात्री जागरुक नहीं हुए, तो स्टेशन व ट्रेनों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए रेलवे द्वारा फिर से कुछ समय के लिए सामान्य श्रेणी के टिकटों की बिक्री बंद की जा सकती है।

ट्रेनों में बड़ी संख्या में यात्रा करने वाले यात्रियों को एक साथ नियम का पालन कराना एक बड़ी चुनौती है। पहली और दूसरी लहर के भयावह दौर में भी ट्रेनें रद्द करना ही एक मात्र विकल्प रह गया था। हालांकि यह संकेत दिया जा रहा है कि धीरे-धीरे ही सही, लेकिन देश में कोरोना की चौथी लहर एक बार फिर से जोर मार रही है। ऐसे में अभी से तैयारी करने की यहां जरूरत लग रही है। यात्री अपनी सहूलियत के हिसाब से सफर कर भी रहे हैं और बड़ी संख्या में ट्रेनें इन दिनों फुल है। ऐसे में ट्रेनों में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सामान्य श्रेणी के टिकट बंद किए जा सकते हैं। तमाम प्रकार की पाबंदियां हटने के बाद रेलवे ने सख्ती इसलिए कम नहीं की थी कि इसमें असीमित मात्रा में यात्री यात्रा करते हैं। इनमें न लोगों को अनिवार्य रूप से मास्क लगवाया जा सकता है और न ही सभी से दूरियां रखने का पालन कराया जा सकता। ऐसी स्थिति में कोरोना अनुकूल व्यवहार भी ट्रेनों में नहीं हो पाता और सर्वाधिक खतरा कम्यूनिटी स्प्रेड का रहता है। इसी कारण ट्रेनों में फिर से सख्ती बरतना सामान्य स्थिति में ही शुरू कर दिया गया है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local