Coronavirus in Gwalior : ग्वालियर। 6 महीने में शहर की ग्वालियर व पूर्व विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव होने हैं। इन दोनों क्षेत्रों में पिछले 10 दिन से जमकर भोजन के पैकेट व राशन बंट रहा है। संकट की घड़ी में पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर व पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने क्षेत्र की जनता के लिए अन्न के भंडार खोल दिए हैं। लोगों को भोजन कराने के साथ-साथ राशन के पैकेट दिए जा रहे हैं। प्रद्युम्न सिंह तोमर व मुन्नालाल गोयल का कहना है कि राशन व पैकेट बांटने में जिला प्रशासन कोई मदद नहीं कर रहा हैं। क्षेत्र के लोगों के सहयोग से गरीबों की मदद की जा रही है। क्योंकि यह मानव जाति पर संकट हैं। घरों में ही रहकर हम इस महामारी से बच सकते हैं। क्षेत्र की 50 प्रतिशत से अधिक परिवार रोज कमाते हैं और रोज खाते हैं। इसलिए एक दिन भी काम पर नहीं जाने से इनके घर के आटे का टीन बजने लगता हैं। यह लोग घरों में सुरक्षित रहें, इसलिए इनके खाने-पीने का प्रबंध जनसहयोग से किया जा रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ प्रद्युम्न मंत्री पद व मुन्नालाल गोयल विधायकी से इस्तीफा देकर कांग्रेस से भाजपा शामिल हुए हैं। इन्हें उपचुनाव में अपने-अपने क्षेत्र से भाजपा से टिकट मिलना लगभग तय है।

10 दिन में 2 लाख भोजन कर चुके हैं, 8 हजार राशन के पैकेट बंट चुके हैं-

पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल ने बताया कि प्रधानमंत्री के लॉकडाउन की घोषणा करने के बाद क्षेत्र की गरीब जनता के लिए लंगर शुरू किया गया। 7 नंबर चौराहे पर दफ्तर पर प्रतिदिन लंगर चल रहा है। इसके अलावा लोडिंग वाहनों से जरूरतमंदों तक खाने के पैकेट पहुंचाए जा रहे हैं। प्रतिदिन 2 हजार भोजन के पैकेट पैक हो रहे हैं। 10 दिन में 2 लाख लोगों के भोजन की व्यवस्था की जा चुकी है। इसके साथ ही राशन के 8 हजार पैकेट वितरित किये जा चुके हैं। एक पैकेट में 2 किलो आटा,एक-एक किलो दाल-चावल व नमक का पैकेट हैं। कुल मिलाकर प्रति पैकेट में 5 किलो राशन हैं। उन्होंने बताया कि यह वितरण व्यवस्था मेरे अकेले के बूते की नहीं हैं। क्षेत्र के लोग दिल खोलकर सहयोग कर रहे हैं।

मुझे नहीं पता कितना बंट गयाः पूर्व मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने बताया कि मुझे नहीं पता कि क्षेत्र में कितने खाने व राशन के पैकेट बंट चुके हैं। क्योंकि यह जनसेवा का कार्य जनता के सहयोग से चल रहा हैं। लोग मुझ तक बांटने के लिए पहुंचाते हैं। जहां जरूरत होती हैं, उन तक अपनी टीम के जरिए पहुंचा देते हैं। जनसहयोग से वह सीएम राहत कोष में भी धनराशि जमा करा चुके हैं। राशन व भोजन पैकेट बांटने में जिला प्रशासन से कोई सहयोग नहीं लिया जा रहा हैं।

अन्य क्षेत्रों में सामाजिक संस्थाएं सक्रिय हैं: दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में विधायक प्रवीण पाठक ने राशन के पैकेट बांटे थे। यहां सामाजिक संस्थाएं भी भोजन व राशन के पैकेट बांटने के लिए सक्रिय हैं। ग्रामीण क्षेत्रों व आदिवासियों के बीच सामाजिक संगठन भोजन व राशन लेकर पहुंच रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना