- जीएम ने मार्च 2023 में जौरा तक ट्रेन दौड़ाने की दी है समय सीमा

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर-श्योपुर गेज परिवर्तन परियोजना में रेलवे महाप्रबंधक (जीएम) प्रमोद कुमार द्वारा मार्च 2023 में जौरा तक 40 किमी के ट्रैक पर ट्रेन दौड़ाने की समय सीमा देने के बाद अफसर एक्शन में आ गए हैं। इस पूरे सेक्शन में रेलवे की जमीन पर कई लोगों ने अस्थायी और स्थायी निर्माण कर लिए हैं। इनके लिए रेलवे ने नोटिस जारी करने शुरू कर दिए हैं। उन्हें स्वयं अतिक्रमण हटाने के लिए कहा गया है। यदि लोग खुद अतिक्रमण नहीं हटाते हैं, तो रेलवे इन्हें प्रशासन की मदद से तुड़वाने की कार्रवाई करेगा। रेलवे के नोटिस के बाद कुछ लोगों ने खुद ही अतिक्रमण हटाना शुरू कर दिया है।

उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक (जीएम) प्रमोद कुमार ने सात मई को ग्वालियर से कैलारस के बीच श्योपुर ब्राडगेज परियोजना की प्रगति का जायजा लिया था। उन्होंने मार्च 2023 तक ग्वालियर से जौरा के बीच 40 किलोमीटर दूरी का काम पूरा करने के निर्देश दिए थे। दिसंबर 2024 तक हर हाल में श्योपुर तक प्रोजेक्ट का काम पूरा करने के लिए कहा था। उन्होंने मानसून से पहले ट्रैक के फार्मेशन का काम पूरा करने और लिंकिंग कार्य शुरू करने के निर्देश दिए थे। जीएम से मिली समय-सीमा के बाद रेलवे के अफसर तेजी से काम शुरू कर रहे हैं, लेकिन कई जगह पर रेलवे की जमीन पर अतिक्रमण है। 40 किमी के इस सेक्शन में लगभग 100 से अधिक जगहों पर लोगों ने अस्थायी और स्थायी रूप से कब्जे कर लिए हैं। उत्तर मध्य रेलवे के रेल पथ विभाग के वरिष्ठ खंड अभियंता ने ऐसे अतिक्रमण हटाने के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है।

70 लोगों के हटाए कब्जे

अिभी तक इस सेक्शन से रेलवे ने 70 कब्जे हटा भी दिए हैं। इन्हें रेलवे ने आरपीएफ व जीआरपी की सहायता से हटाया है। अब अफसरों की योजना जौरा से आगे के सेक्शन में भी अतिक्रमणकारियों को जल्द नोटिस जारी कर कब्जे हटावाने की है।

यह सामान्य प्रक्रिया है। रेलवे की जमीन पर यदि किसी ने अतिक्रमण किया है, तो उसे नोटिस देकर हटवाया जाता है। इसी क्रम में हाल ही में लोगों को नोटिस जारी किए गए हैं और कुछ लोगों के अतिक्रमण हटाए गए हैं।

मनोज कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी, झांसी मंडल

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close