ग्वालियर। नईदुनिया रिपोर्टर

बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत बालिकाओं और महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा, र्दुव्यवहार व शोषण को समाप्त करने के लिए पिंक सेल का गठन किया गया है। इसके तहत शुक्रवार को पद्मा विद्यालय में पिंक सेल की टीम ने बालिकाओं को जागरुक किया। मुरार एसडीएम जयति सिंह ने बालिकाओं को बताया कि यदि आपके साथ कोई घटना होती है या फिर ईव टीजिंग जैसी परिस्थिति का सामना होता है तो घबराएं नहीं, बल्कि हिम्मत के साथ इसका सामना करें। पूरा प्रशासन और पुलिस आपकी मदद के लिए तत्पर है इसलिए आप शिकायत करें। ऊर्जा डेस्क प्रभारी पायल गुप्ता ने ऊर्जा डेस्क की जानकारी दी।

एआरटीओ रिंकू शर्मा ने परिवहन विभाग की ओर से नए मोटर व्हीकल एक्ट की जानकारी दी। एआरटीओ शर्मा ने पहले बालिकाओं से पूछा कि आप में से कितने लोग वाहन चलाते हैं और कितनों के पास लाइसेंस है। इसके बाद उन्होंने बताया कि बिना लाइनेंस नाबालिकों के वाहन चलाने पर 25 हजार रुपए तक का जुर्माना और पैरेंट को तीन साल तक की सजा भी हो सकती है। साथ ही मोटर मालिक का रजिस्ट्रेशन भी निरस्त हो सकता है। परिवहन विभाग ने बालिकाओं को पेंप्लेट वितरित कर बताया कि वाहन चलाते समय किन-किन कागजों का साथ रखना होता है। उन्होंने बताया कि जल्द ही विभाग 16 से 18 वर्ष की बालिकाओं के लिए विशेष शिविर भी लगाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network