-प्रतिबंध में भी रेत का अवैध कारोबार जारी, घाटीगांव क्षेत्र में रोज निकाले जा रहे तीस से ज्यादा डंपर

-कागज के टुकड़े पर टोकन बनाकर भेजे जा रहे

-नोट इसमें फोटो टोकन का उपयोग होगा

ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। रेत के अवैध कारोबार के लिए कुख्यात ग्वालियर-चंबल संभाग में प्रतिबंध के बाद भी जमकर रेत दौड़ रही है। अब जब खनन प्रतिबंध है और रायल्टी नहीं कट सकती तो माफियाओं ने कच्चे टोकन पर कारोबार शुरू कर दिया है। इसपर डंपर का नंबर और वसूली की राशि लिखी जाती है, अवैध रेत ले जा रहे डंपर चालक के पास यह टोकन होता है तो उसे कोई रोकता नहीं है। सबसे ज्यादा कारेाबार घाटीगांव क्षेत्र में हो रहा है, यहां चैत,पार,जखा से अलग रूट से वाहनों को निकाला जा रहा है। तीस से ज्यादा डंपर रोज अवैध रेत लेकर निकाले जा रहे हैं जिसके बाद ट्रालियों से सप्लाई की जा रही है। खनन से लेकर हाइवे तक न प्रशासन को यह डंपर दिख रहे न पुलिस रोक रही है।

यहां यह बता दें कि मानसून की अवधि में रेत खनन से लेकर परिवहन व भंडारण पर शासन की ओर से रोक लगा दी जाती है। यह प्रतिबंध 30 सितंबर तक है और इसके बाद कारोबार किया जा सकेगा। रेत की खदानें इस समय बंद हैं और अभी किसी के पास ठेका न होने के कारण कोई काम भी नहीं कर सकता है। इसी प्रतिबंध की अवधि में माफिया जमकर कारोबार कर रहे हैं। रेत के वाहनों को गुपचुप निकालने के लिए माफिया ने खुद के टोकन बना लिए हैं।

ऐसे टोकन से चल रहा कारोबार

रेत का कच्चा टोकन जाे नईदुनिया तक पहुंचा है, उसपर एक कागज की पर्ची पर वाहन का नंबर एमपी07जीए4525, समय नौ बजकर 39 मिनट और नकदी रकम 3800 रूपए लिखी है। नीचे एक हस्ताक्षर भी हो रहे हैं जो अस्पष्ट हैं। इन टोकन पर्चियों को डंपर के चालकों को दे दिया जाता है और कहीं भी डंपर रोका जाता है तो यह पर्ची दिखाकर निकाल लिया जाता है। हाइवे हो या थाने के सामने कहीं डंपर रूकता नहीं है।

मउछ होकर निकाले जा रहे डंपर

घाटीगांव के मउछ रूट से डंपरों को निकाला जाता है। पार,जखा होते हुए नए गांव का रूट कनेक्ट होता है। यह घाटीगांव का पूरा बेल्ट है,जहां दिन रात यह अवैध रेत का परिवहन हो रहा है।

जांच कराई थी,सही रिपोर्ट नहीं मिली

घाटीगांव में रेत के अवैध कारोबार व खनन का इनपुट मिला था। कच्चे टोकन व डंपरों के आवागमन की जांच करने के लिए पटवारी व अन्य अमले को भेजा गया था लेकिन उन्होने कुछ नहीं बताया। अब इसकी अलग से जांच कराई जाएगी और औचक छापेमारी करेंगें।

संजीव खेमरिया, एसडीएम,घाटीगांव

हम कार्रवाई कर रहे

रेत व गिटटी के अवैध कारोबार को लेकर इनपुट मिलते ही कार्रवाई की जाती है। अभी हाल ही में हमने कार्रवाई की हैं और सितंबर माह में काफी प्रकरण दर्ज किए हैं। घाटीगांव में भी जांच कराएंगे।

प्रदीप भूरिया, खनिज अधिकारी,ग्वालियर

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close