Sarvapitru Moksh Amavasya 2020: ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि। 17 सितम्बर को पितृ मोक्ष अमावस्या पर शुभ ग्रह नक्षत्रों का योग रहेगा। इस बार 38 साल बाद पितृमोक्ष अमावस्या के दिन ग्रहों के राजा सूर्य अपनी राशि परिवर्तन कर कन्या राशि में पधार रहे हैं। इसके कारण पितृमोक्ष अमावस्या पर सूर्य संक्रांति का योग बन रहा है। इससे पूर्व यह योग 1982 में बना था। अब यह संयोग 19 साल बाद फिर आएगा। वहीं 18 सितम्बर से अधिकमास प्रारंभ हो जाएंगे।

ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी के अनुसार पदम पुराण मार्कडेय तथा अन्य पुराणों में बताया गया है कि अश्वनी माह की अमावस्या पर पितृ पिडंदान और तिलांजलि चाहते हैं। अगर उन्हें पिंडदान व तिलांजलि नहीं मिलती है तो वह अतृप्त होकर अपने लोको को जाते हैं। इसलिए मृत्यु तिथि पर श्राद्ध करने के साथ ही अमावस्या पर जाने अनजाने में छूटे हुए सभी पीढियों के पितरों का श्राद्ध करना चाहिए। इसे महालय पितृपक्ष भी कहा जाता है।

इन जातकों के लिए सूर्य के राशि परिवर्तन से यह रहेगा फल

सूर्य के राशि परिवर्तन से मेष, कर्क, धनु राशि के जातकों के लिए आर्थिक लाभ, अच्छा सेहत के साथ ही अच्छा समय प्रारंभ होगा। जबकि वृषभ, मिथुन, सिंह, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर, कुंभ और मीन राशि के लोगों को संभलकर रहना होगा।

18 से प्रारंभ हो जाएगा अधिकमास

18 सितम्बर से अधिकमास प्रारंभ हो जाएंगे। इस साल अधिकमास के माह में 15 शुभ योग रहेंगे। जिसमें 9 सर्वार्थ सिद्धी योग, 2 द्वी पुष्कर योग, एक अमृत सिद्धि योग रहेगा। अधिकामस के दौरान, यज्ञ, हवन के साथ देवी भागवत पुराण, श्रीमद् भागवत पुराण, विष्णु पुराण, आदि का श्रावण व पाठन विशेष रूप से फलदाई होता है। अधिकमास के स्वामी भगवान विष्णु हैं इसलिए इस पूरे माह के दौरान भगवान विष्णु के मंत्रों का जाप करना चाहिए। इस दौरान प्राण प्रतिष्ठा, स्थापना, विवाह, मुंडन, यज्ञोपवित, गृह प्रवेश जैसे संस्कार कर्म वर्जित रहेंगे।

इस दिन यह रहेंगे शुभ योग

26 सितम्बर व 1, 2, 4, 6, 7, 9, 11, 17 को सर्वार्थ सिद्धि योग होने से इस दौरान की गई पूजा, अनुष्ठान के द्वारा मांगी गई मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। 19 व 27 सितम्बर को दीपुष्कर योग रहेगा। इस योग में किए गए कार्य दोगुणा अधिक फल देते हैं। साथ ही 10 अक्टूबर को रवि पुष्य व 11 अक्टूबर को पुष्य नक्षत्र रहेगा। इन तिथियों में की गई खरीदारी शुभ व लाभकारी रहेगी।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020