- 8-13 जनवरी तक खेला जाएगा टूर्नामेंट

- टूर्नामेंट में टोक्यो ओलिंपिक में खेल चुकी खिलाड़ियों का खेल देखने का मिलेगा अवसर

राजदिल शिवहरे.ग्वालियर। जिला खेल परिसर कंपू स्थित मप्र राज्य महिला हाकी अकादमी के मैदान पर बिछ रहे नए एस्टोटर्फ का काम अंतिम दौर में चल रहा है। नए एस्ट्रोटर्फ का आगाज राजमाता विजयाराजे सिंधिया गोल्ड कप महिला हाकी टूर्नामेंट-2022 से होगा। टूर्नामेंट की मेजबानी की हरी-झंडी शुक्रवार देर शाम हाकी इंडिया ने अपनी आफिशियल साइट से मध्यप्रदेश खेल विभाग को दे दी है। इस टूर्नामेंट की खास बात यह होगी कि इसमें टोक्यो ओलिंपिक में सेमीफाइनल तक का सफर करने वाली भारतीय महिला टीम की कई खिलाड़ी ग्वालियर में खेलते नजर आएंगी।

राज्य महिला हाकी अकादमी ग्वालियर के चीफ कोच परमजीत सिंह ने बताया कि कोरोना में राहत मिलने के बाद ग्वालियर में यह बड़ा खेल आयोजन होगा। प्रदेश की खेलमंत्री यशोधरा राजे सिंधिया यह टूर्नामेंट ग्वालियर में कराने के लिए काफी में समय से प्रयासरत थी। हाकी इंडिया से हरी झंडी मिलने के बाद हमने तैयारियां तेज गति से शुरू कर दी हैं। टूर्नामेंट में मेजबान मप्र राज्य महिला हाकी अकादमी ग्वालियर (एमपीएचए) सहित मध्यप्रदेश, सेंट्रल रेलवे, वेस्टर्न रेलवे, टाटा एकेडमी भुवनेश्वर, सीआरपीएफ जालंधर, इनकम टैक्स नई दिल्ली और एसएसबी लखनऊ की टीमों को आमंत्रित किया जा रहा है। नॉक आउट लीग आधार पर होने वाला यह टूर्नामेंट 8 से 13 जनवरी तक नए एस्ट्रोटर्फ सहित परिसर के एक अन्य एस्ट्रोटर्फ पर होगा। श्री सिंह ने बताया, सेंट्रल रेलवे और वेस्टर्न रेलवे जैसी दिग्गज टीमों का ओलिंपियन सुशीला चानू, मोनिका, वंदना कटारिया, रजनी, नवनीत अगर प्रतिनिधित्व करने आती हैं तो निश्चित तौर पर ग्वालियर हाकी प्रेमियों को उनका खेल देखने को मिलेगा। यहां बतां दें कि यह पहला टूर्नामेंट भोपाल में 10 से 15 सितंबर 2018 में खेला गया था। तब रेलवे मप्र हाकी अकादमी ग्वालियर को 1-0 से हराकर विजेता रही थी।

नए एस्टोटर्फ से पानी की बचत होगी और चोटिल होने के चांस भी कम रहेंगे

हाकी इंडिया व भारतीय खेल प्राधिकरण से एप्रूव ब्ल्यू कलर का नया एस्ट्रोटर्फ जिला खेल परिसर में बिछाया जा रहा है। इस पर कम से कम 30 फीसद पानी की बचत होगी, वहीं खिलाड़ियों के चोटिल होने के चांस कम रहेंगे। अकादमी के चीफ कोच श्री सिंह ने बताया कि अब हमारे पास दो फुल और एक हाफ एस्ट्रोटर्फ सुविधा लैस मैदान हो जाएंगे। इससे हम बहुत जल्द 59 से 100 संख्या खिलाड़ियों की कर लेंगे। वहीं, दोनों रंग (हरा व नीला) के एस्ट्रोटर्फ मैदान पर अभ्यास करने का अनुभव हमें अन्य मैदान पर विजेता बनने में सहायक होगा।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close