Shukra Surya Yuti 2022: ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। भौतिक सुखों के देवता शुक्र ग्रह को अत्यंत शुभ ग्रह माना जाता है। वही सौर मंडल के समस्त ग्रहों में से शुक्र सबसे ज्यादा चमकदार ग्रह होता है। इसलिए यह भोर के तारे के नाम से भी जाना जाता हैं। शुक्र ग्रह अपना गोचर लगभग 23 दिन की अवधि में पूरा कर लेते हैं।

बालाजी धाम काली माता मंदिर के ज्योतिषाचार्य डॉ. सतीश सोनी के अनुसार सांसारिक सुखों के कारक ग्रह शुक्र अपना गोचर करते हुए 7 अगस्त 2022 रविवार की सुबह 5:12 पर अपने मित्र बुध की राशि मिथुन से निकलकर अपने शत्रु ग्रह चंद्रमा की राशि कर्क में प्रवेश करेंगे, और फिर 31 अगस्त को शुक्र पुनः अपना गोचर करते हुए सूर्य की राशि सिंह में प्रवेश कर जाएंगे।

चूकि 7 अगस्त को शुक्र का कर्क राशि में गोचर हो रहा है। जहां उनका मिलन वहां पहले से मौजूद सूर्य के साथ होगा। ऐसे में शत्रु ग्रह की राशि कर्क में शुक्र का गोचर तथा मकर राशि में वक्री शनि के साथ मिलकर शुक्र का समसप्तक योग इस दौरान प्राकृतिक आपदाओं के चलते देश भर में जान माल की हानि कराएगा, वहीं पूर्वी राज्यों में अत्यंत अधिक वर्षा से समस्या देगा, तथा देश के दूसरे राज्यों में वर्षा की कमी के चलते कृषि जगत को परेशानी होगी।

इसके साथ ही केंद्र सरकार के समक्ष कई गंभीर चुनौतियों के बीच सरकार को बड़ा आर्थिक लाभ टैक्स से होता दिखाई दे रहा है। धार्मिक व आध्यात्मिक रुझान बढ़ेंगे। सॉफ्टवेयर शेयरों में अच्छा उछाल आएगा, तेल, घी,गुड़, शक्कर के भाव में काफी तेजी आएगी। जबकि चांदी, गेहूं,जौ, मटर के भाव में पहले मंदी बाद में तेजी आने की संभावना रहेगी।

शुक्र ग्रह की शांति के लिए क्या करें उपाय

- चीनी, चावल, दूध, दही और घी से बने पदार्थों का गरीब व जरूरतमंदों को दान करें।

- शृंगार सामग्री, कपूर, दही आदि का दान छोटी कन्या को करें।

- अपने से बड़ी महिलाओं का सम्मान करें।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close