Shukra and Guru Rashi Parivartan : ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रेम सौंदर्य कला, दांपत्य सुख का प्रतिनिधि ग्रह शुक्र ने 1 अगस्त से सुबह 5 बजकर 9 मिनट पर अपनी बदल ली है। शुक्र देव पिछले चार माह से वृषभ राशि में चल रहे थे। शुक्र के मिथुन राशि में आने से इनका समसप्तक योग बन रहा है। क्योंकि इस समय देवगुरु बृहस्पति धनु राशि में हैं। शुक्र के मिथुन राशि में प्रवेश करते ही उनके साथ ही राहु व बुध ग्रह भी होंगे। वहीं धनु राशि में गुरु के साथ केतु भी मौजूद रहेंगे। इन ग्रहों की एक दूसरे के सातवें घर में नजर रहेगी। शुक्र ग्रह पूरे एक माह तक मिथुन राशि में रहेंगे। शुक्र के परिवर्तन एवं समसप्तक योग से 5 राशियों को विशेष लाभ मिलेगा। जबकि कला के क्षेत्र से जुड़े लोगों को सावधानी से रहने की जरूरत है।

ज्योतिषाचार्य सतीश सोनी के अनुसार शुक्र ग्रह को सौंदर्य, कला, ऐश्वर्य, वैभव, कला, संगीत व कामवासना का कारक माना जाता है। शुक्र ग्रह वृषभ और तुला राशि के मालिक हैं। मीन राशि में यह उच्च का और कन्या राशि में यह नीच अवस्था में रहते हैं। जिन जातकों की कुंडली में शुक्र ग्रह प्रबल होता है उन व्यक्तियों को शुक्र आकर्षक बनाता है। प्रबल शुक्र के जातक धन व वैभव से सम्पन्न होते हैं। उनका जीवन ऐश्वर्यशाली रहता है।

इन राशियों पर यह रहेगा शुक्र का प्रभाव

मेष : मानसिक और शारीरिक क्षमता में वृद्धि होगी।

वृषभः अचानक धन का बड़ा लाभ मिल सकता है।

मिथुन : कला व सांस्कृतिक क्षेत्र में उन्नाति के अवसर मिलेंगे।

कर्कः दाम्पत्य जीवन में मधुरता रहेगी।

सिंह : नौकरी व पद प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी।

कन्याः काम में परिवर्तन शुभ रहेगा।

तुला राशिः लबें समय से अटके काम होंगे पूरे

वृश्चिक : कोध में आकर धन का नुकसान करेंगे।

धनु : सात्विकता व आधुनिकता में वृद्धि के अवसर मिलेंगे।

मकर राशिः शत्रुओं से सावधान रहें।

कुंभ : विद्यार्थियों के लिए बेहतर समय है।

मीनः वाहन, भवन खरीदने का बनेगा योग।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020