-ग्वालियर सीएसपी प्रमोद शाक्य ने बहोड़ापुर तिराहा पर रोके थे दो रेत से भरे डंपर

-चालक पकड़े और तब तक मालिक दूसरी चाबियों से ले गया दोनों डंपर

ग्वालियर,(नईदुनिया प्रतिनिधि)। रेत के अवैध कारोबार को रोकने को लेकर पुलिस कितनी सतर्क है, यह रविवार की रात बहोडापुर क्षेत्र में सामने आ गया। यहां सीएसपी ग्वालियर प्रमोद शाक्य ने दो रेत से भरे डंपर पकड़े थे। डंपरों को रोका और पुराने बहोड़ापुर थाने के पास खड़े करा दिए। चालकों को पकड़कर पुराने थाने में पूछताछ करने लगे,एक चालक ने रायल्टी होने की बात कही, दूसरे पर कुछ नहीं था। यह सिंध नदी की रेत थी। इसी बीच डंपरों का मालिक दूसरे चालकों व दूसरी चाबी लाकर डंपरों को भगा ले गया। सीएसपी पूछताछ करते रह गए। अवैध रेत को लेकर न रोजनामचे में रिपोर्ट डाली गई न एफआइआर हुई। बाद में दोनों चालकों को भी पुलिस ने छोड़ दिया। खुद सीएसपी भी स्वीकार गए कि न डंपर का पता चला न कार्रवाई कर सके।

रेत भरे डंपर: पुलिस ने यह किया-ग्वालियर सर्किल सीएसपी प्रमोद शाक्य ने रविवार रात को दो रेत भरे डंपरों को रोका। दोनों डंपरों को बहोड़ापुर तिराहे के पास जयभोले नाथ नाश्ते वाले के पास खड़ा कर दिया गया। चालकों को उतारकर व चाबी निकालकर पुराने बहोड़ापुर थाने ले जाया गया। यहां पूछताछ की जा रही थी तो एक डंपर चालक ने भिंड से श्योपुर की रायल्टी होना बताई। दूसरे के पास कुछ नहीं निकला। इनका मालिक ट्रांसपोर्टर राठौर बताया गया, जो कि गोला का मंदिर पर रहता है। सीएसपी यहां पूछताछ करते रहे, तब तक पता चला कि डंपरों का मालिक दूसरे चालक लाकर डंपरों को भगा ले गया। बाद में पुलिस ने दोनों पकड़े गए चालकों को भी रवाना कर दिया। इस पूरे मामले की कोई लिखापढ़ी नहीं की गई।

पर्दे के पीछे की कहानी: बातचीत चल रही थीः सूत्रों के अनुसार इस पूरे मामले में पर्दे के पीछे की कहानी ही कुछ और है। सीएसपी हो या उनका स्टाफ डंपरों को रोका तो गया, लेकिन कार्रवाई नहीं होना थी,वरना यह डंपर मौके से गायब ही नहीं होते। अगर कार्रवाई होना थी तो डंपर एक नाश्ते वाले की दुकान की बजाए नए थाना परिसर में खड़े कराए जाने थे। पकड़े गए थे तो माइनिंग विभाग को सूचित क्यों नहीं किया गया या खुद थाना स्तर पर कार्रवाई क्यों नहीं कराई गई। इस पूरे मामले में सेटिंग का खेल चलने की खबर है, जो सफल नहीं हो पाई।

खुद सीएसपी ने स्वीकारा-कार्रवाई नहीं की,चालक भी छोड़ेः इस मामले में नईदुनिया ने जब सीएसपी प्रमोद शाक्य से दो डंपरों को पकड़ने पर कार्रवाई का विवरण पूछा तो उन्होंने कहा कि एक डंपर पर रायल्टी थी, लेकिन दूसरे पर नहीं थी। चालकों से बात कर रहे थे, लेकिन डंपरों को मालिक भगा ले गया। ऐसा डंपर मालिक को नहीं करना चाहिए था, यह नैतिकता नहीं है। यह लोग जो अवैध कारोबार कर रहे हैं, आगे भी करेंगें ,रणनीति बनाकर कार्रवाई करूंगा।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close