Gwalior Street light News: ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ध्यान रखें..! अगर शाम के समय आप सैर करने के लिए अपने घर के आसपास कहीं जा रहे हैं तो ऐसे में अपनी सुरक्षा की जिम्मेदारी आपकी स्वयं की रहेगी। क्योंकि शहर को रोशनी देने वाली स्ट्रीट लाइटें खराब पड़ी हैं, सड़कों पर चारों ओर अंधेरा पसरा हुआ है। ऐसे में इस अंधेरे का सीधा फायदा बदमाशों को मिलता है। रात को सड़कों पर पसरे इस अंधेरे से दुर्घटनाएं तो होती ही हैं, वहीं इसकी ओट में कई असामाजिक तत्व आपराधिक गतिविधियों को भी अंजाम देते हैं। शहर को स्मार्ट सिटी का झूठा तमगा देने वाला नगर निगम भी इस समस्या से निजात दिलाने के मामले में विफल नजर आ रहा है। बात चाहे मुख्य रास्तों की करें या कालोनियों की, हाइवे को जोडने वाले मुख्य मार्गों की या दुर्घटना बहुल्य चौराहों की, हर तरफ फैला हुआ घना अंधेरा शहरवासियों की जान का दुश्मन बन चुका है। यहां तक कि शहर के कई सरकारी कार्यालयों के सामने लगी स्ट्रीट लाइटें ही बदहाल स्थिति में हैं। ऐसा नहीं है कि इस अंधेरे से परेशान स्थानीय लोगों ने नगर निगम का दरवाजा नहीं खटखटाया है, लोगों ने तमाम बार शिकायतें की हैं, लेकिन इसके बाद भी जब कोई समाधान नहीं मिला तो लोगों ने आपस में राशि एकत्रित कर के अपने क्षेत्रों में 2-3 लाइटें लगवाई हैं। यह कहना गलत नहीं होगा कि शहर को रोशन करने के मामले में नगर निगम अब लाचार स्थिति में है।

कलेक्ट्रेट पर ही लाइट खराब:

कलेक्ट्रेट के प्रवेश द्वार पर लगी स्ट्रीट लाइट ही खराब है। खबर लिखे जाने के समय तक उस स्ट्रीट लाइट की हालत ऐसी थी कि बजाय एक जैसे जलने के वह बार-बार जल-बुझ रही थी। यह आलम सिर्फ किसी जगह विशेष पर नहीं है, शहर में कई जगह यही स्थिति है। कुछ मार्ग ऐसे भी हैं जहां सिर्फ सड़क के एक ओर स्ट्रीट लाइट लगी हैं, दूसरी ओर स्ट्रीट लाइट की कोई व्यवस्था नहीं है। आदमखोर श्वानों से खतरा माडल टाउन में रहने वाले निशांत सिंह बताते हैं कि इस क्षेत्र में कई लोग रहते हैं। लगभग पूरी तरह कालोनी बसी हुई है, लेकिन रात को जब घर से बाहर निकलते हैं तो डर लगता है। जो रास्ता डीबी सिटी से कलेक्ट्रेट को जोड़ता है उस पर मृत पशुओं के शव फेंक दिए जाते हैं। उन्हें खाने वाले श्वान आदमखोर हो जाते हैं। जब भी रात में उस ओर से कोई आता है तो यह श्वान उस पर हमला कर देते हैं।

स्ट्रीट लाइटों को लेकर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया जा चुका है। जांच करवा कर जल्द ही सभी स्ट्रीट लाइटों को ठीक करवा दिया जाएगा।

- किशोर कान्याल, आयुक्त, ननि

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close