- 24 से बदलेगा हवा का रुख, उत्तरी हवा चलने पर तापमान में एगी गिरावट

Snowy wind in Gwalior: ग्वालियर. (नईदुनिया प्रतिनिधि)। जम्मू कश्मीर में सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ से उत्तरी हवा थम गई थी। जिससे कश्मीर से बर्फीली ठंडक आना बंद हो गई थी इस कारण न्यूनतम तापमान स्थिर हो गया है, जिससे ठंडक घटी है, लेकिन बुधवार को बर्फीली हवा ने दस्तक दे दी, जिससे न्यूनतम तापमान 9.8 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। इससे रात में ठंडक बढ़ गई। सुबह के समय कंपकंपी रही। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ का असर 23 नवंबर तक खत्म हो जाएगा। 24 नवंबर से हवा का उत्तर दिशा से हो जाएगा। यह हवा अपने साथ जम्मू कश्मीर से बर्फीली ठंडक लेकर आएगी। इससे फिर से ठंड बढ़ेगी।

19 व 20 नवंबर को न्यूनतम तापमान दस डिग्री सेल्सियस से नीचे था, जिसके चलते रात में कंपाने वाली ठंड की दस्तक हो गई थी। सुबह के समय के ठंड की चुभन भी बढ़ी थी और धूप का भी गुनगुना अहसास हो रहा था। उत्तरी हवा की वजह से यह बदलावा आया था, लेकिन पश्चिमी विक्षोभ को आने से उत्तरी हवा थम गई है। अरब सागर से हलकी नमी भी आने लगी है, जिससे गत दिवसठंड की चुभन कम हुई है। दिन में भी ठंडक कम रही। अधिकतम तापमान 28.6 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हुआ, जो सामन्य से 0.5 डिसे कम रहा। मंगलवार को तेज धूप निकली थी।, दिन में धूप की चुभन बढ़ गई थी, लेकिन अब दिन में धूप की चुभन भी कम रहेगी, तापमान में गिरावट आएगी।

जम्मू कश्मीर में लगातार पश्चिमी विक्षोभ आ रहे हैं। इन पश्चिमी विक्षोभों के चलते उत्तरी हवा नहीं चल पा रही है। अरब सागर से नमी आने लगती है। नमी के कारण न्यूनतम तापमान में बढ़ोतरी होने लगती है। दिन का तापमान स्थिर हो जाता है। इस कारण नवंबर में ठंड रफ्तार नहीं पकड़ पा रही है। अधिकतम तापमान 28.5 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड हु आ, जो सामान्य से 0.8 डिग्री सेल्सियस अधिक रहा। इस कारण दिन में धूप की चुभन बढ़ गई।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close