ग्वालियर। अब मानसून ने विदाई के संकेत दे दिए हैं। दिन के तापमान में बढ़ोतरी और रात के तापमान में गिरावट आने लगी है। न्यूनतम तापमान में आई गिरावट की वजह से सुबह हल्की ठंड का अहसास भी होने लगा है। पिछले तीन दिन में अधिकतम तापमान में 4 डिसे की बढ़ोतरी हुई है। न्यूनतम तापमान में 3 डिसे की गिरावट आई है। मौसम विभाग के अनुसार 8 अक्टूबर के बाद देश से मानसून की वापसी की शुरूआत हो जाएगी। राजस्थान से पहले वापसी होगी।

इस बार मानसून 12 दिन देरी से आया था, लेकिन सीजन के अंत में जिले के ऊपर अच्छा मेहरबान रहा है। औसत से 118.7 मिली मीटर ज्यादा बारिश हुई। 9 साल बाद सबसे ज्यादा पानी बरसा है। औसत से ज्यादा बारिश होने की वजह से अच्छी ठंड के संकेत भी मिल रहे हैं। 20 अक्टूबर के बाद हवा का रुख बदलने लगेगा। उत्तर से हवा चलने लगेगी, जोअपने साथ ठंडक लेकर आएगी। नवंबर, दिसंबर, जनवरी में इस बार अच्छी ठंड की उम्मीद है। मौसम केन्द्र भोपाल के रडार प्रभारी वेदप्रकाश सिंह के अनुसार 8 अक्टूबर के बाद मानसून की वापसी होना शुरू हो जाएगी।

ऐसे समझें मानसून की वापसी

- अगर मानसून सक्रिय रहता है तो दिन व रात के तापमान में गिरावट नहीं आती है। गर्मी बरकरार रहती है। उमस का भी सामना करना पड़ता है।

- अगर मानसून वापस होने लगता है तो दिन के तापमान में बढ़ोतरी होती है। रात के तापमान में गिरावट आती है। पहले रात में ठंडक आती है। जब न्यूनतम तापमान 12 से 14 डिसे के बीच आ जाता है, उसके बाद दिन के तापमान में गिरावट आने लगती है। ठंड की दस्तक हो जाती है।

कभी भी हो सकती है हल्की बारिश

उत्तर प्रदेश में एक साइक्लोन सर्कुलेशन बना हुआ है। इसकी वजह से 8 अक्टूबर से पहले एक बार मौसम में बदलाव की संभावना है। इससे कभी भी हल्की बारिश हो सकती है, लेकिन झमाझम की संभावना नहीं है।

आगे क्या

- दिन का तापमान बढ़ने की वजह से हल्के बादल छाएंगे। रात में आसमान साफ रहेगा। तापमान में गिरावट आएगी।

मानसून मीटर

आज दिनांक तक बरसा पानी-908.7 मिमी

औसत बारिश-790 मिमी

औसत से ज्यादा-118.7 मिमी

पिछले पांच दिन के तापमान में की स्थिति

दिनांक अधिकतम न्यूनतम

29 सितंबर 30.2 22.4

30 सितंबर 32.8 22.0

1 अक्टूबर 30.1 23.5

2 अक्टूबर 32.2 22.3

3 अक्टूबर 34.0 20.2

पिछले 12 साल में हुई औसत बारिश की स्थिति

वर्ष औसत बारिश

2008 995 मिमी

2009 399मिमी

2010 833 मिमी

2011 981 मिमी

2012 800 मिमी

2013 779 मिमी

2014 590 मिमी

2015 665 मिमी

2016 563 मिमी

2017 708 मिमी

2018 813.3 मिमी

2019 908.7 मिमी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस