ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। जनकगंज इलाके में अपने दोस्त की हत्या कर लाश सीवर चेंबर में फेंकने वाला आरोपित आज जेल जाएगा। उसने पूछताछ में अपना पूरा गुनाह कुबूल कर लिया है। उसने पुलिस को गुमराह करने के लिए अपने एक दोस्त के मोबाइल से युवक को काल किया था, देर रात उससे भी पूछताछ की गई लेकिन उसकी कोई भूमिका इसमें नहीं पाई गई। इसके चलते देर रात उसे छोड़ दिया गया। शुक्रवार को उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा, यहां से उसे जेल भेज दिया जाएगा।

जनकगंज स्थित ढोलीबुबा का पुल इलाके का रहने वाला आरिफ पुत्र हनीफ खान 19 जुलाई को घर से गया था। इसके बाद वह वापस नहीं लौटा। उसके स्वजनों ने गुमशुदगी दर्ज कराई। जब उसकी काल डिटेल निकाली तो उसकी बात जितेंद्र पाल से हुई थी। जितेंद्र ने अपने दोस्त के मोबाइल से उसे फोन किया था। शराब के नशे में यह लोग जुआ खेल रहे थे। जुआ खेलते समय रुपए को लेकर विवाद हुआ, जितेंद्र ने अपनी ही छत से उसे धक्का दे दिया और आरिफ की नीचे गिरने से दर्दनाक मौत हो गई। फिर हत्यारे ने नसैनी लगाई, करीब 12 फीट ऊंचे सीवर चेंबर के ढक्कन तक पहुंचा। यहां से उसने युवक की लाश को अंदर फेंक दिया। एक महीने से पुलिस गुमशुदा युवक की तलाश में लगी थी, स्वजन बार-बार दोस्त पर ही शक कर रहे थे, तीन बार उसे पकड़ा लेकिन पुलिस पूछताछ में उससे कुछ नहीं उगलवा पाई थी। आखिर परिवार वालों को ही सीवर चेंबर के पास युवक की चप्पल पड़ी मिली, फिर उन्होंने ही नगर निगम की टीम को बुलाया, जो सीवर चेंबर में उतरी। यहां युवक का कंकाल मिल गया। उसके कपड़ों से स्वजनों ने पहचान कर ली। इसके कुछ ही देर बाद पुलिस ने आरोपित को हिरासत में ले लिया, पूछताछ करने पर उसने हत्या करना स्वीकार की।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close