- सीजन की औसत वर्षा है 706 मिमी, अब हो चुकी है 713.8 मिमी, सात मिमी अधिक हुई

- बंगाल की खाड़ी के सिस्टम का असर

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। बंगाल की खाड़ी से आया कम दवाब का क्षेत्र गुरुवार को ग्वालियर-चंबल पर सक्रिय रहा। इस कारण शहर में एक घंटे तक झमाझम वर्षा हुई और शहर को तर कर दिया। सड़कों पर जल जमाव हुआ। 20.8 मिमी वर्षा होने से औसत का कोटा पूरा हो गया है। औसत से सात मिमी वर्षा अधिक हो चुकी है। अब वर्षा की चिंता खत्म हो गई है। मौसम विभाग ने 23 सितंबर को भी वर्षा के आसार जताए हैं। हलकी से मध्यम वर्षा हो सकती है। अंचल में 30 सितंबर तक मानसून सक्रिय होने के आसार हैं।

बंगाल की खाड़ी से आए कम दबाव के क्षेत्र की वजह से पिछले दो दिनों शहर में वर्षा की झड़ी जारी है। पिछले 24 घंटे में 41.6 मिमी वर्षा हो चुकी है। रीवा, बुंदेलखंड में वर्षा करते हुए सिस्टम ग्वालियर चंबल संभाग पहुंच गया। इस कारण सुबह चार बजे तेज वर्षा हुई। उसके बाद रुक-रुक कर बूंदाबांदी जारी रही। लेकिन दोपहर में शहर में काली घटाएं छा गई हैं। एक घंटे तक झमाझम वर्षा हुई। वर्षा से शहर की सड़कें जलमग्न हो गई। जगह-जगह पानी भर गया। बादलों के चलते धूप भी नहीं निकली, जिससे अधिकतम तापमान 27.4 डिसे रिकार्ड हुआ, सामान्य से 6.6 डिसे कम रहा।जिससे मौसम में ठंडक रही। सिस्टम उत्तर प्रदेश के पास है। शहर में औसत वर्षा 706.4 मिमी है। अब तक 713.8 मिमी वर्षा हो चुकी है। इससे भी वर्षा के आसार बने हुए हैं।

सबसे ज्यादा वर्षा घाटीगांव में दर्ज

-इस सिस्टम का असर सबसे ज्यादा घाटीगांव में रहा है। 86.4 मिमी वर्षा दर्ज हुई है। उसके बाद डबरा में 33.3 मिमी, भितरवार 22 मिमी, चीनोर में 15 मिमी वर्षा हुई है। यदि घांटीगांव में हुई वर्षा तिघरा के कैचमेंट हुई है, तो तिघरा भर सकता है। पूरी सीजन में इतनी वर्षा एक साथ घाटीगांव में दर्ज नहीं हुई है।

- ग्वालियर चंबल संभाग में 30 सितंबर तक मानसून सक्रिय रहेगा। हवा में नमी आने से स्थानीय प्रभाव से वर्षा का दौर जारी रहेगा।

अधिकतम तापमान-27.4 डिसे

न्यूनतम तापमान-23.7 डिसे

वर्षा-20.8 मिमी

कुल वर्षा-713.8 मिमी

औसत वर्षा-706.4 मिमी

तिघरा भरा -734 फीट तक

पारे की चाल

समय तापमान

05:30 24.8

08:30 25.2

11:30 26.8

14:30 26.4

17:30 27.0

इनका कहना है

- कम दवाब का क्षेत्र ग्वालियर-चंबल संभाग के ऊपर कमजोर पड़कर चक्रवातीय घेरे के रूप में बदल गया है। चक्रवातीय घेरे के कारण 23 सितंबर की सुबह तक तेज व हलकी वर्षा का दौर जारी रहेगा। 24 को हलकी वर्षा रहेगी। इसके बाद अासमान साफ हो जाएगा। धूप निकलने लगेगी।

डा वेदप्रकाश सिंह, रडार प्रभारी मौसम केंद्र भोपाल

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close