- गेंडे वाली सड़क स्थित पहाड़ पर प्रशासन व पुलिस ने बदमाश नेहरू वाल्मीक का छह हजार वर्ग फीट में बना मकान तोड़ा

- एंटी माफिया अभियान के तहत एसडीएम लश्कर की कार्रवाई

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रशासन और पुलिस ने एंटी माफिया अभियान के तहत बुधवार को बदमाश नेहरू वाल्मीक का छह हजार वर्ग फीट में बना मकान तोड़ दिया। नेहरू पर 51 मामले दर्ज हैं और यह शराब का अवैध कारोबार सबसे ज्यादा करता है जिसमें पुलिस को इसकी तलाश है। इसपर हत्या व हत्या के प्रयास जैसे संगीन मामले भी दर्ज हैं। बुधवार को दोपहर लगभग 11 बजे प्रशासन ,पुलिस और निगम का लगभग 80 लोगों का अमला मौके पर पहुंचा और मकान को तोड़ा। चार घंटे चली कार्रवाई में प्रथम तल, दूसरा तल पर काफी तुडाई कर दी। तीसरी मंजिल को पूरा नहीं गिराया गया क्योंकि आसपास के मकानों को खतरा था। मौके पर बदमाश तो नहीं था लेकिन पत्नी व बेटियों ने विरोध भी किया लेकिन पुलिस के आगे नहीं चल सकी।

एसडीएम लश्कर अनिल बनवारिया ने बताया कि नेहरू वाल्मीक ने गेंडे वाली सड़क स्थित शासकीय पहाड़ पर अवैध कब्जा कर लिया था। करीब पांच साल पहले इसने छह हजार वर्ग फीट जमीन पर तीन मंजिल मकान बना लिया। बाजार मूल्य इस संपत्ति का जमीन सहित लगभग एक करोड़ रूपए आंका गया है। आबकारी के मामले में पुलिस को इसकी तलाश है। घर का सामान निकालने के लिए समय दिया लेकिन घरवालों ने नहीं निकाला तो अमले की मदद से कुछ सामान निकलवाया गया। शेष भाग तो तुड़ाई के लिए रह गया है उसे धीरे धीरे सावधानी से निगम का अमला तोड़ देगा।

15 कैमरे लगे थे, पुलिस पर रखता था निगाह

नेहरू वाल्मीक काफी शातिर है। इसके भूतल से लेकर तीसरी मंजिल पर कैमरे लगे हुए हैं। पुलिस टीम कहीं इसके घर दबिश देने तो नहीं आ रही और कोई अन्य संदिग्ध व्यक्ति निगरानी तो नही कर रहा ,यह बैठे बैठे जानने के लिए नेहरू ने 15 कैमरे लगवा रखे थे। कार्रवाई में टीआई इंदरगंज आसिफ मिर्जा सहित अधिकारी उपस्थित थे। पुलिस बल और थ्रीडी मशीन देखकर आसपास के लोग दहशत में आ गए थे।

इधर मंदिर भी हटाया

एसडीएम लश्कर ने तानसेन रोड व रेसकोर्स रोड की लिंक रोड पर जहां नया आरओबी प्रस्तावित हैं वहां रास्ते में बाधक मंदिर भी हटाया गया। माता के मंदिर से मूर्ति की स्थापना दूसरे स्थान पर कराई गई। पीडब्ल्यूडी के अधिकारी इस मंदिर को लेकर शिकायत कर रहे थे।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local