ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। शहर में रविवार को वर्षा का दौर थम गया। मध्यप्रदेश में सक्रिय कम दबाव का क्षेत्र कमजोर होने के साथ ही आगरा के रास्ते राजस्थान पहुंच गया है। वहीं बंगाल की खाड़ी में भी कोई सिस्टम सक्रिय नहीं है। इस कारण अब बरसात की संभावना कम हो गई है। हालांकि अब भी वातावरण में नमी मौजूद है और सोमवार को आसमान साफ रहने से धूप खिलेगी। इससे गर्मी बढ़ने और स्थानीय प्रभाव से छुटपुट वर्षा हो सकती है। मौसम विभाग ने 27 से 28 सितंबर के आसपास ग्वालियर-चंबल संभाग से मानसून वापस लौटने की संभावना जताई है।

रविवार को आसमान में बादलों का घनत्व कम होने के साथ ही वर्षा भी थम गई। मध्यप्रदेश में बना कम दबाव का क्षेत्र अब कमजोर होने के साथ चक्रवाती हवाओं के क्षेत्र में बदलकर उत्तर-पूर्वी राजस्थान में पहुंच गया है। उधर, बंगाल की खाड़ी में अन्य कोई मौसम प्रणाली बनने की उम्मीद नहीं है। इसके चलते ग्वालियर सहित आसपास के जिलों में अब बारिश की संभावना कम है। हालांकि वातावरण में नमी अभी भी मौजूद है। इसके चलते अगले 24 घंटे के दौरान बादलों की आवाजाही बनी रहने के साथ मौसम अत्यधिक गर्म होने की स्थित में अंचल में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ सकती हैं। रविवार को अधिकतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस बढ़ोतरी के साथ 32.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 0.8 डिग्री सेल्सियस की गिरावट के साथ 23.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। सुबह हवा में नमी 77 और शाम को 81 प्रतिशत दर्ज की गई।

एक अक्टूबर से शुरू होगा सिटीजन सर्वे

स्वच्छता सर्वेक्षण 2023 को लेकर शहर में आगामी एक अक्टूबर से सिटीजन फीडबैक सर्वे का कार्य शुरू किया जाएगा। इसके लिए स्वास्थ्य अधिकारी डा. वैभव श्रीवास्तव के निर्देशन में टीम गठित कर दी है। टीम में दक्षिण विधानसभा में भीष्मकुमार पमनानी, ग्वालियर में अजय ठाकुर, ग्वालियर पूर्व में किशोर चौहान को जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके बाद नीचे स्तर पर सहायक स्वास्थ्य अधिकारी, क्षेत्रीय अधिकारी व वार्ड स्वास्थ्य अधिकारियों से कार्य कराया जाएगा।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close