ग्वालियर। पति की लंबी आयु के लिए पत्नी करवा खरीदने बाजार गई थी। घर में अकेले पति ने पहली पत्नी के छोड़कर चले जाने के गम में खुद को गोली मार ली। कनपटी पर कट्टा अड़ाकर मारी गई गोली में युवक की मौके पर ही मौत हो गई। घटना गुरुवार दोपहर 2 बजे के लगभग तिघर रोड साडा बायपास की है। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटना स्थल को निगरानी में लेकर जांच शुरू की है। घटना स्थल से एक सुसाइड नोट भी मिला है। जिसमें मृतक किसी सुरेश-ममता को उसकी पत्नी से जुदा करने का आरोपित बता रहा है। साथ ही पत्नी की बहुत याद आने पर यह कदम उठाने की बात लिख रहा है। पुलिस ने शव को डेड हाउस में रखवा दिया है।

पुरानी छावनी थानाक्षेत्र स्थित तिघरा रोड साडा बायपास निवासी विजय (40) पुत्र गंगाराम कुशवाह मूलता गिरवाई का रहने वाला है। वह ऑटो चालक है। 18 साल पहले उसने लता निवासी पातरखेड़ा बैतूल के साथ प्रेम विवाह किया था। करीब 18 साल तक साथ रहे। लता के कोई बच्चा नहीं हुआ था। जिस पर प्रदीप नाम के बच्चे को उन्होंने गोद लिया था। प्रदीप आज 11 साल का है। अभी कुछ समय पहले लता ने विजय से अलग होने का फैसला किया। इसके लिए महिला थाने में आवेदन लगाया और नियम से अलग हुए।

यह बात विजय को काफी खल रही थी। उसे लगता था कि लता का किसी अन्य के साथ संबंध थे। इस पर उसने 1 अक्टूबर को शिवपुरी निवासी रमा कुशवाह से शादी की थी।

देशी कट्टे से खुद को मारी गोली, सोफे पर पड़ा मिला शव

गुरुवार को करवाचौथ पर रमा ने पति विजय के लिए उपवास रखा था। दोपहर में वह बेटे प्रदीप के साथ बाजार खरीदारी करने चली गई। पति की लंबी आयु के लिए सुबह से उसने पानी नहीं पीया था। जब वह बाजार में थी तभी विजय ने देशी कट्टा अपनी दायीं तरफ कनपटी पर लगाकर खुद को गोली मार ली। मौके पर ही उसकी मौत हो गई। जब कुछ देर बाद पत्नी लौटी तो पति का लहूलुहान शव सोफे पर पड़ा था।

17 दिन पहले जोड़ा रिश्ता, ऐसे छोड़कर चला गया

घटना स्थल पर मृतक की दूसरी पत्नी रमा ने जैसे ही शव देखा वह बेहोश हो गई। किसी तरह उसे चेतना में लाया गया। उसका कहना था कि जब छोड़कर जाना था तो 17 दिन पहले उससे रिश्ता क्यों जोड़ा था। वह समझ नहीं पा रही थी कि उसके साथ क्या हो गया है। बेटा बार-बार उसे समझा रहा था।

तीन दिन पहले सुरेश ने पीटा था, सुसाइड नोट में लिखा नाम

घटना स्थल से पुलिस को 8 लाइन का सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उसने किसी सुरेश और ममता का जिक्र करते हुए लिखा है कि इन दोनों के कारण मेरी लता मुझे छोड़कर गई। इनको कभी माफ नहीं करुंगा। आज करवाचौथ पर मुझे उसकी बहुत याद आ रही है। जब पुलिस ने पता किया तो सुरेश के बारे में पता लगा कि विजय उसे मामा मानता था। उसे लगता था कि लता को उससे जुदा करने में इन दोनों का हाथ है। इसलिए वह उनका विरोध करता था। इसी विरोध पर तीन दिन पहले सुरेश ने घर आकर विजय की मारपीट की थी।

Posted By: Nai Dunia News Network