ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। ट्रेनों के डिब्बों और शौचालयों में साफ-सफाई की व्यवस्था बेपटरी हो गई है। गर्मी की छुट्टियों की भीड़ ट्रेन में कम होने के कारण रेलवे का अमला भी सुस्त हो गया है। इसके चलते अब ट्रेनों में फिर से गंदगी की शिकायतें आने लगी हैं। पिछले पांच दिनों में ही आधा दर्जन ट्रेनों में गंदगी की शिकायतें सामने आई हैं। हालांकि शिकायत मिलने पर रेलवे ने तुरंत ही इन ट्रेनों में साफ-सफाई करा दी।

ट्रेन में सफर करने वाले मुसाफिरों को रेलवे सफर के दौरान सुविधाएं उपलŽब्ध कराने का दावा किया जाता है, लेकिन रेलवे बोर्ड के स्वच्छ ट्रेन स्वच्छ भारत सप्ताह को रेलवे मंडल ही पलीता लगा रहा है। ट्रेनों के कोच और टायलेट में गंदगी और दुर्गंध से यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा है। कोच में गंदगी व दुर्गंंध से परेशान यात्री रेल मदद एप और ट्विटर पर लगातार ट्रेनों में गंदगी की शिकायतें भेज रहे हैं। उसके बाद भी यात्रियों को गंदगी व बदबू भरे कोच में सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है। बीते कुछ दिनों में अलग-अलग ट्रेनों में गंदगी की शिकायतें सामने आई हैं। इनमें जीडी एक्सप्रेस, तमिलनाडु एक्सप्रेस, अहमदाबाद एक्सप्रेस, छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस और संपर्क क्रांति एक्सप्रेस शामिल हैं। गौर करने वाली बात यह है कि इन ट्रेनों के एसी कोच में सवार यात्रियों ने ही सबसे अधिक शिकायतें दर्ज कराई हैं। इसका कारण यह है कि ज्यादा किराया चुकाने के बाद भी एसी कोच में सवार यात्रियों को सुविधाएं नहीं मिल रही हैं। ऐसे में ये यात्री शिकायतें दर्ज करा रहे हैं। दूसरी ओर ट्रेनों में यात्रियों की भीड़ कम होने के कारण रेलवे के सफाई अमले ने भी सक्रियता घटा दी है। उल्लेखनीय है कि कोरोना संक्रमण के चलते दो वर्षों के बाद गर्मी के मौसम में यात्रियों ने छुट्टी मनाने के लिए थोक में रिजर्वेशन कराए थे। इस कारण उस समय अमला सक्रियता से काम कर रहा था।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close