-सलाहकार भी नियुक्त किया जाएगा

-440.96 करोड़ की लागत से हाेगा रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास

ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। उत्तर मध्य रेलवे ने ग्वालियर रेलवे स्टेशन के पुनर्विकास के टेंडर खोल दिए हैं। तीन फर्मों ने इस टेंडर में दिलचस्पी दिखाई है। एक महीने के अंदर फर्मों का तकनीकी व वित्तीय मूल्यांकन कर फर्म का चयन किया जाएगा। स्टेशन के पुनर्विकास का रास्ता साफ हो गया है। टेंडर अलाेट होने के बाद फर्म को दो साल में कार्य पूरा करना होगा। वहीं दूसरी तरफ स्टेशन के पुनर्विकास की निगरानी व सलाह के लिए अलग से फर्म का चयन किया जाएगा। जिसके लिए रेलवे ने टेंडर जारी कर दिए हैं। सलाहकार से यह कार्य पांच करोड़ 78 लाख 63 हजार 885 रुपये में कराया जाएगा।

उत्तर मध्य रेलवे ने 29 अप्रैल को पुनर्विकास के टेंडर जारी किए थे। पुनर्विकास के लिए फर्मों से टेंडर मांगे थे। मंगलवार को उत्तर मध्य रेलवे के प्रयागराज स्थित मुख्यालय में टेंडर खोला गया। डीवी प्रोजेक्ट लिमिटेड कोरबा, केपीसी प्रोजेक्ट हैदराबाद, यूआरसी कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड ने भाग लिया है। इन तीनों फर्मों का तकनीकी व वित्तीय मूल्यांकन कर टेंडर जारी किया जाएगा।

सलाहकार फर्म यह कार्य करेगीः

-पुनर्विकास कार्य की निगरानी के लिए 524 लाेग अलग से नियुक्त किए जाएंगे

-स्टेशन के पुुनर्विकास व निगरानी के लिए 25 जुलाई को फर्म फाइनल हाेगी, जब टेंडर खुलेंगे। निगरानी के लिए 524 लोगों की नियुक्ति की जाएगी, जो अलग-अलग कार्य देखेगी। यह कार्य अलग फर्म के पास रहेगा। इस कार्य के लिए रेलवे पांच करोड़ 78 लाख 63 हजार 885 रुपये खर्च करेगी।

ये हाेगी नियुक्तियांः

-टीम लीडर कम प्रोजेक्ट मेनेजर-24

- लीड डिजाइनर-6

- सीनियर मैनेजर-12

- मैनेजर-12

- रजीडेंट इंजीनियर-40

- साइट इंजीनियर-120

- साइट सर्वेयर-20

- सुपरवाइजर क्वालिटी कंट्रोलर-40

-सुपरवाइजर आपरेशन एंड सेफ्टी-32

-कंप्यूटर आपरेटर कम स्टेनोग्राफर-40

-ड्राफ्टमेन-40

-आफिस अटेंडेंट- 120

ऐसा होगा ग्वालियर का रेलवे स्टेशनः

-स्टेशन पर प्रवेश व निकास के लिए दो अलग-अलग भव्य द्वार तैयार किए जाएंगे।

-स्टेशन की छत को बादलों जैसा तैयार किया जाएगा। आसमान की तरफ देखने पर जिस तरह से कुछ बादल पास नजर आते हैं और कुछ दूर। इसी तरह से छत की डिजाइन भी होगी। जिससे यात्रियों का प्राकृतिक अहसास होगा।

-सपाट छत की जगह घुमावदार होगी, जिससे यात्रियों को भव्यता का अहसास होगा।

-तानसेन रोड और रेसकोर्स रोड को आपस में जोड़ने के लिए दो फुटओवर ब्रिज तैयार किए जाएंगे। ये फुटओवर दोनों सड़कों को जोड़ने के साथ-साथ प्लेटफार्म को भी जोड़ेंगे।

-स्टेशन पर यात्रियों की सुविधा के लिए 21 लिफ्ट और 19 एस्केलेटर लगाए जाएंगे। ये सभी कानकोर्स एरिया और प्लेटफार्म से जुड़े रहेंगे। जिससे यात्रियों के प्लेटफार्म तक पहुंचने के लिए आसान होगा।

-स्टेशन पर कुल छह प्लेटफार्म तैयार करने का प्रविधान किया गया है। अभी चार प्लेटफार्म हैं। नए प्लेटफार्म बनने से आउटर पर ट्रेन को नहीं रोकना पड़ेगा।

-नया स्टेशन तैयार होने के बाद रेलवे के प्रचलित अनाउंसमेंट सिस्टम में भी बदलाव किया जाएगा। अब यहां ‘यात्रीगण कृपया ध्यान दें से शुरू होने वाले ट्रेन का अनाउंसमेंट नहीं सुनाई देगा।

-अंग्रेजी और हिंदी भाषा में अलग-अलग अनाउंसमेंट किया जाएगा, जिसमें ग्वालियर के इतिहास व यहां के मुख्य पर्यटन स्थलों के बारे में यात्रियों को बताया जाएगा।

-स्टेशन का कोनकोर्स एरिया 90 मीटर रखा गया है।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close