ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। ग्वालियर के अलग-अलग क्षेत्रों में रहने वाली तीन बालिकाएं 24 घंटे में लापता हो गईं। पुलिस ने तीनों ही मामलों में अपहरण की एफआइआर दर्ज कर किशोरियों की तलाश शुरू कर दी है। फिलहाल किशोरियों का कुछ पता नहीं लग सका है। पुलिस सीसीटीवी कैमरे भी देख रही है।

1- बहोड़ापुर स्थित गणेशबाग कालोनी की रहने वाली 17 वर्षीय खुशी प्रजापति घर से बाजार जाने के लिए निकली थी, इसके बाद वह घर नहीं लौटी। जब रात तक वह वापस नहीं आई तो परिजनों को चिंता हुई। इसके बाद परिजनों ने रिश्तेदार और परिचितों के यहां उसे ढूंढा लेकिन उसका कुछ पता नहीं लगा। परिजनों ने बहोड़ापुर थाने पहुंचकर एफआइआर दर्ज कराई।

2- सिटी सेंटर स्थित मरघट पहाड़ी के पास सिंधिया नगर की रहने वाली पुष्पा उम्र 16 वर्ष संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गई। किशोरी की मां की शिकायत पर यूनिवर्सिटी पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

3- चीनौर थाना क्षेत्र के अंतर्गत जाटव मोहल्ला में रहने वाली रोशनी जाटव उम्र 16 साल पड़ोसी के घर गई थी, यहां से वह लापता हो गई। परिजनों को जब उसका कुछ पता नहीं लगा तो रात में थाने पहुंचे। चीनौर थाना पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है।

पीड़ित ने नहीं कराई एफआइआर, शांति भंग का किया मामला दर्ज

नईदिल्ली से त्रिवेंद्रम जाने वाली केरला एक्सप्रेस के एस-4 कोच में शराब के नशे में हंगामा करने वाले यात्री के खिलाफ पीड़ित महिला ने केस दर्ज नहीं कराया। इसके चलते आरोपित पर जीआरपी ने शांति भंग का केस दर्ज किया और वह रिहा हो गया। ़किेरला के एस-4 कोच में नागपुर की महिलाओं का एक समूह सफर कर रहा था। पंजाब के बठिंडा के रहने वाले नरिंदर सिंह भी एस-4 में सवार थे। नरिंदर सिंह शराब के नशे में था। दिल्ली से ट्रेन के चलने के बाद डिब्बे में इधर उधर घूमने लगा। महिला यात्रियों का वीडियो भी बनाने लगा, जिसको लेकर महिलाओं ने आपत्ति भी की। जब उसे टोका तो उसने महिला यात्रियों के साथ अभद्र व्यवहार भी किया। ़इिसकी सूचना ग्वालियर स्टेशन पर आने के बाद उसे जीआरपी ने ट्रेन से उतार लिया, लेकिन महिलाएं शिकायत दर्ज कराने तैयार नहीं हुई। वह ट्रेन से नागपुर निकल गई। इसके चलते जीआरपी ने शांति भंग का केस दर्ज कर छोड़ दिया।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close