Tokyo Paralympics 2021: अजय उपाध्याय, ग्वालियर (नईदुनिया)। पैरालिंपिक में भाग लेना ही बड़ी बात है... प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की यह बात एलएनआइपी के छात्र अजीत यादव में दोगुना जोश व हिम्मत पैदा कर गया। तीन साल पहले एक हादसे में अपना बायां हाथ गंवा चुके अजीत हाल ही में दो सितंबर को टोक्यो पैरालिंपिक में भाला फेंक (जेवलिन थ्रो) का प्रदर्शन कर लौटे हैं। अजीत ने टोक्यो पैरालिंपिक में प्रदर्शन तो बेहतर किए, मगर मेडल हासिल नहीं कर पाए। अजीत का दावा है कि टोक्यो का अनुभव उन्हें वर्ष 2024 के पेरिस (फ्रांस) पैरालिंपिक में अवश्य सफलता दिलाएगा। नईदुनिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि इस वक्त वे दिल्ली में प्रशिक्षण ले रहे हैं, ताकि पेरिस में देश को मेडल (तमगा) कर सके।

अजीत का कहना है टोक्यो के पैरालिंपिक का अनुभव बहुत काम आएगा। मैंने अभी तक इतने बड़े प्लेटफार्म पर कभी नहीं खेला था, इसलिए थोड़ा घबराया। प्रशिक्षण के दौरान मैं 63.96 मीटर तक भाला फेंक रहा था, पर पैरालिंपिक में महज 56 मीटर ही फेंक सका। टोक्यो के अनुभव ने मुझमें 2024 के लक्ष्य के लिए दोगुना जोश भर दिया है।

तीन दिन रहे क्वारंटाइन

अजीत ने बताया कि पैरा ओलिंपिक में भाग लेने के लिए हम 24 अगस्त 2021 को टोक्यो पहुंचे। टोक्यो में तीन दिन के लिए हमें क्वारंटाइन कर दिया गया। हालांकि, इस दौरान मैं प्रशिक्षण लेता रहा। दो सितंबर को मेरे खेल (भाला फेंक) का प्रदर्शन हुआ। इसके बाद इंडिया वापस आ गया और नौ सितंबर को दिल्ली में प्रधानमंत्री से मिलने का मौका मिला।

हादसे में गंवा चुके हैं बायां हाथ

वर्ष 2010 में अजीत इटावा से पढ़ने के लिए ग्वालियर आए थे। यहां एलएनआइपी में प्रवेश मिल गया। कालेज स्तर के कई खेलों में हिस्सा लिया। वर्ष 2017 में दोस्त को बचाते समय ट्रेन की चपेट में आने से उन्हें बायां हाथ खोना पड़ा था।

संघर्ष से पहुंचे टोक्यो तक

दिसंबर 2017 में हादसे का शिकार बने अजीत ने खुद को जल्द ही शारीरिक व मानसिक रूप से फिट किया। चार माह बाद ही उन्होंने पंचकुला में नेशनल चैंपियनशिप में भागीदारी की। मई 2019 में चाइना ग्रांड फिक्स और फिर सितंबर 2019 में इंडियन ओपन प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता। नवंबर 2019 में दुबई में वर्ल्ड पैरा चैंपियनशिप में ब्रांज जीता। फरवरी 2021 में दुबई में पैरा एथलेटिक्स ग्रांट पिक्स में ब्रांज मेडल अपने नाम किया।

Posted By: Hemant Kumar Upadhyay

NaiDunia Local
NaiDunia Local