ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्वालियर से रतलाम तक जाने वाली इंटरसिटी एक्सप्रेस इंदौर तक का आठ घंटे का सफर 11:10 घंटे में तय कर रही है। इस ट्रेन को सफर के दौरान अनावश्यक रूप से कई स्टेशनों पर रोककर रखा जाता है, जिसके चलते यात्रियों का समय बर्बाद होता है। इस रूट पर ट्रेनों का संचालन 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से किया जा सकता है, परंतु इस ट्रेन की औसत गति सिर्फ 50 किमी प्रति घंटा की है। ग्वालियर से इंदौर के बीच रात के समय इकलौती ट्रेन होने के कारण यात्रियों को मजबूरी में इसी से सफर करना पड़ता है। इसके चलते कई यात्री अब ट्रेन के बजाय सड़क मार्ग से ग्वालियर से इंदौर के बीच सफर करना पसंद कर रहे हैं।

रतलाम इंटरसिटी एक्सप्रेस सप्ताह में चार दिन ग्वालियर और तीन दिन भिंड से बनकर संचालित की जाती है। यह ट्रेन रतलाम तक कुल 683 किमी का सफर करती है, लेकिन भिंड व ग्वालियर से अधिकतर यात्रियों की संख्या इंदौर तक के सफर के लिए होती है। ग्वालियर से इंदौर की दूरी 565 किमी की है और इस ट्रैक पर 120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है। इस हिसाब से यह ट्रेन लगभग पांच घंटे में यह सफर कर सकती है। सफर के दौरान ट्रैक पर लगने वाले काशन आर्डर और स्टेशनों पर ठहराव का समय भी जोड़ लिया जाए, तो अधिकतम आठ घंटे में ट्रेन को इंदौर तक पहुंच जाना चाहिए, लेकिन यह सफर 11:10 घंटे में पूरा हो रहा है। यह ट्रेन शाम 7:50 बजे ग्वालियर से रवाना होती है और सुबह सात बजे इंदौर पहुंचती है। इसके चलते यात्रियों का तीन घंटे से अधिक का समय बर्बाद होता है। स्थिति यह है कई बार ट्रेन समय से पहले चलती है, लेकिन इसे अनावश्यक रूप से ऐसे छोटे-छोटे स्टेशनों पर रोककर रखा जाता है, जहां इसका हाल्ट नहीं होता है। ऐसे में यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। पिछले दिनों झांसी में उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक प्रमोद कुमार के साथ हुई सांसदों की बैठक में ग्वालियर सांसद विवेक शेजवलकर के प्रतिनिधि के तौर पर शामिल हुए वसंत अग्रवाल ने भी इस मुद्दे को उठाया था। अब अफसर इस मामले का रिव्यू करा रहे हैं।

3:39 घंटे में शिवपुरी तक 126 किमी का सफरः इंदौर से ग्वालियर के बीच सफर के दौरान यह ट्रेन बहुत धीमी गति से चलती है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इंदौर से चलकर इसका शिवपुरी पहुंचने का समय सुबह 4:07 बजे और ग्वालियर पहुंचने का समय 7:47 बजे का है। शिवपुरी से ग्वालियर के बीच की दूरी रेल मार्ग से 126 किमी की है। यह सफर करने में ट्रेन को 3:39 घंटे का समय लगता है यानी यह ट्रेन यह दूरी सिर्फ 37 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तय करती है। शिवपुरी से ग्वालियर के बीच इस ट्रेन को पनिहार जैसे छोटे स्टेशन पर खड़ा कर दिया जाता है।

अन्य ट्रेनों का भी यही हालः ऐसा नहीं है कि यह स्थिति सिर्फ रतलाम इंटरसिटी के साथ ही है, बल्कि इस ट्रैक पर चलने वाली अन्य ट्रेनें भी इसी रफ्तार से सफर करती हैं। इनमें चंडीगढ़-इंदौर एक्सप्रेस 11:10 घंटे, अमृतसर-इंदौर एक्सप्रेस 8:55 घंटे, देहरादून-इंदौर एक्सप्रेस 11:20 घंटे व बरेली-इंदौर एक्सप्रेस 12:10 घंटे में यह सफर पूरा करती हैं।

वर्जन-

यह मामला सांसदों की बैठक में आया था। इसके लिए हमें पश्चिम रेलवे के साथ सामंजस्य बैठाकर हल निकालना है। रेलवे कभी नहीं चाहती कि यात्रियों के समय का नुकसान हो, इसी कारण से हम इस मामले का रिव्यू करा रहे हैं। जल्द ही इसका हल निकाल लिया जाएगा।

डा. शिवम शर्मा, मुख्य जनसंपर्क अधिकारी उत्तर मध्य रेलवे

वर्जन-

झांसी में महाप्रबंधक के साथ हुई बैठक में हमने इंदौर तक का सफर 11 घंटे से अधिक समय में पूरा होने का मामला उठाया था। रेलवे की ओर से आश्वासन दिया गया है कि जल्द ही इस मामले का रिव्यू कर हल निकाला जाएगा।

वसंत अग्रवाल, बैठक में शामिल सांसद प्रतिनिधि

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local