ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि

खाद्य पदार्थों में मिलावट की पुष्टि होने के बाद एडीएम न्यायालय 4 संस्थानों के लाइसेंस निरस्त कर दिए। रविवार को तहसीलदार के नेतृत्व में पहुंची टीमों ने संस्थानों का निरीक्षण किया। मुरार में पाल डेयरी को सील कर दिया तो मोर बाजार में मावा कारोबारी ने मावा बेचना ही बंद कर दिया।

दीपावली से पहले खाद्य विभाग की टीमों ने शहर में कई फर्मों से घी, मावा, पनीर, मिठाई सहित अन्य खाद्य पदार्थों के सैंपल लिए थे। सैंपलों की रिपोर्ट के बाद एडीएम न्यायालय से लाइसेंस निरस्ती की कार्रवाई की जा रही है। एडीएम ने न्यू पाल डेयरी बजाज खाना, मुरार का भी लाइसेंस निरस्त कर दिया था। रविवार को तहसीलदार नरेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में टीम डेयरी पर पहुंची। डेयरी खुली थी। इसलिए टीम ने उसे सील कर दिया। उधर, गणेश डेयरी दही मंडी लश्कर, बालाजी मिष्ठान भंडार डबरा तथा न्यू श्रीराम मावा भंडार मोर बाजार का लाइसेंस भी निरस्त किया था। तहसीलदार के नेतृत्व में टीम मोर बाजार पहुंची। दुकान संचालक रामसेवक शर्मा ने उन्हें बताया कि जबर सिंह नरवरिया ने मावा बेचना बंद कर दिया है। पहले वह इसी दुकान से मावा बेचना था। तहसीलदार ने पंचनामा भी लिया है।

Posted By: Nai Dunia News Network