ग्वालियर (नप्र)। शहर के ग्लोबल अस्पताल में घुटने व कूल्हे के दर्द एवं सूजन से ग्रस्त दो मरीजों का सफल जोड़ प्रत्यारोपण शैल्बी अस्पताल के प्रसिद्घ सर्जन डा. अनीश गर्ग ने किया। इस आपरेशन की विशेषता यह रही कि सर्जरी के 12 घंटे बाद ही दोनों मरीज चलने-फिरने में सक्षम हो गए। इन दोनों मरीजों को लंबे समय से परेशानी थी, जिसके कारण उनको अपने दैनिक कार्य करने में कठिनाइयां होने लगी थीं। ऐसे में उन्होंने ग्लोबल अस्पताल में सर्जन डा. अनीश गर्ग से परामर्श लिया और सफल प्रत्यारोपण कराया। अस्पताल में जीरो तकनीक की सहायता से जोड़ प्रत्यारोपण किया जाता है, जिसमें न के बराबर ब्लड लास होता है। इससे मरीज जल्दी रिकवर हो जाता है और 15 दिन के पश्चात ही अपने रोजमर्रा के काम शुरू कर लेता है। यह आपरेशन कराने वाली मरीज कंचन हवलानी ने बताया कि उन्हें पिछले आठ वर्षों से चलने-फिरने में समस्या आ रही थी। कई एलोपैथिक एवं आयुर्वेदिक इलाज लिए, लेकिन ज्यादा लाभ नहीं मिला। इसके बाद उन्होंने जोड़ प्रत्यारोपण कराया और अब चलने-फिरने में पहले से काफी आराम है। वहीं आपरेशन कराने वाले 30 वर्षीय दिलीप प्रजापति ने बताया कि उन्हें पिछले एक साल से कूल्हे में दर्द रहने लगा था, जिससे उठने-बैठने में परेशानी होती थी। उन्होंने कूल्हे का प्रत्यारोपण कराया और अब उन्हें आराम है।

पीरियड में किशोरिया व महिलाएं सफाई का ध्यान रखें

यूनिसेफ और राज्य शिक्षा केंद्र की सहयोगी संस्था राइगिं आर्यवर्त वेलफेयर सोसाइटी (रॉस ) द्वारा शाला स्वच्छता कार्यक्रम ग्वालियर एवं घटीगांव में संचालित किया जा रहा है । यूनिसेफ के मार्गदर्शन में आंगनवाड़ी केंद्र वीरपुर माहवारी स्वच्छता प्रबंधन दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के बताया गया कि यह किशोरावस्था पार कर नव यौवन में प्रवेश करने वाली सामान्यत:10 से 16 वर्ष की लड़कियों में होने वाला हार्मोनल परिवर्तन है जो प्रतिमाह 28 से 35 दिन की अवधि में होता है। इस दौरान सफाई का ध्यान रखें।

Posted By: anil tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close