ग्वालियर। बाल भवन में पिछले दिनों हुए हंगामे की घटना को लेकर बहुजन समाज पार्टी ने मंगलवार को बारादरी चौराहे से रैली निकालकर मोतीमहल पर धरना दिया। इसके बाद संभागीय कमिश्नर को ज्ञापन देकर थाने में दर्ज प्रकरण वापस लेने एवं दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

रैली का नेतृत्व बसपा के प्रदेश प्रभारी सुमरत सिंह, प्रदेशाध्यक्ष एवं विधायक अंबाह सत्यप्रकाश, पूर्व विधायक मनीराम धाकड़, पूर्व विधायक लाखन सिंह बघेल ने किया। कार्यकर्ता मंगलवार को दोपहर 12 बजे रैली के रूप में बारादरी चौराहे से रवाना हुए और मोतीमहल पहुंचे। वहां एक दिवसीय सांकेतिक धरना दिया। धरने को संबोधित करते हुए प्रदेश प्रभारी सुमरत सिंह ने कहा कि पिछले दिनों बाबा साहेब की विचारधारा पर बाल भवन में एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया था। इसमें एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने बाबा साहेब के छाया चित्रों को फाड़कर अपमान किया। कार्यक्रम में शामिल बसपा कार्यकर्ताओं ने जब इसका विरोध किया तो एबीवीपी तथा भाजपा के लोगों ने लाठी डंडो से हमला कर दिया। इसमें बीएसपी के कार्यकर्ता दिनेश मौर्य को गंभीर चोटे आईं थीं। लेकिन इस मामले में पुलिस ने दिनेश मौर्य के खिलाफ ही मामला दर्ज कर लिया। बसपा ने संभागायुक्त को ज्ञापन देकर झूठे केस वापस लेने एवं दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही शासन को चेतावनी दी है कि यदि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं की गई तो बसपा इसका प्रदेशस्तर पर विरोध करेगी। प्रदेशाध्यक्ष एवं विधायक सत्यप्रकाश ने कहा कि यदि गरीब लोगों पर अत्याचार बंद नहीं किया गया, तो मैं विधानसभा नहीं चलने दूंगा। इन समस्याओं को विधानसभा में उठाऊंगा। इस दौरान मनीराम धाकड़ ,लाखन सिंह बघेल, संजीव कुशवाह, मानवेन्द्र सिंह, रंजीत गुर्जर आदि ने भी विचार व्यक्त किए।

मोतीमहल पर लगा जाम

मोतीमहल पर धरने में भारी भीड़ के कारण जाम की स्थिति निर्मित हो गई। हालांकि ट्रैफिक पुलिस ने ट्रैफिक डायवर्ट कर दिया था, इससे परेशानी कुछ कम हुई।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local