- स्वजनों का गलत इंजेक्शन लगाने का लगाया आरोप

ग्वालियर.नईदुनिया प्रतिनिधि। प्रसव के दौरान बच्ची को जन्म देने के पांच घंटे बाद अचानक प्रसूता की तबियत बिगड़ गई। हालत बिगड़ती देख प्रसूता को इंजेक्शन लगाने के बाद उसकी कुछ देर बाद मौत हो गई। प्रसूता की मौत पर स्वजनों ने इलाज कर रहे ने डॉक्टरों पर गलत इंजेक्शन लगाने का आरोप लगाते हुए डेड बॉडी को नर्सिंगहोम के बाहर रखकर आधी रात को हंगामा शुरू कर दिया। हंगामे की सूचना मिलते ही माधवगंज धाना पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों को जांच का आश्वासन देकर बॉडी को पीएम के लिए हाउस भेजकर मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है। घटना बीती रात थाना क्षेत्र स्थित ठाकुर नर्सिंगहोम की होना बताई गई है।

जानकारी के अनुसार गोरमी भिण्ड निवासी मुकेश जैन ने पत्नी पिंकी जैन को प्रसव कराने के लिए माधवगंज स्थित ठाकुर नर्सिंगहोम में शुक्रवार दोपहर तीन बजे भर्ती कराया था। शाम सात बजे पिंकी ने ऑपरेशन से एक बच्ची को जन्म दिया। डिलेवरी के बाद इलाज कर रहे डॉक्टरों ने जच्चा-बच्चा दोनों को स्वस्थ बताते हुए ऑपरेशन के बाद रूम में शिफ्ट करा दिया।

रात में बिगड़ी तबियत

आधी रात बारह बजे के बाद अचानक प्रसूता पिंकी की तबियत बिगड़ती देख मौके पर मौजूद नर्स ने डॉक्टर से बातचीत कर उसे एक इंजेक्शन लगाया। नर्स ने बताया कि पिंकी को टांके सुखाने के लिए इंजेक्शन लगाया है। इंजेक्शन लगाने के बाद पिछी की तबियत और बिगड़ गई और कुछ देर बाद ही पिकी की मौत हो गई। पिंकी जैन के पहले से ही तीन लड़कियां हैं और शुक्रवार की शाम पिंकी ने चौथी बेटी को ऑपरेशन से जन्म दिया था। जबकि परिजनों का कहना है कि पहले तीन डिलेवरी नार्मल हुई थी। डॉक्टरों ने जबरदस्ती डिलेवरी के लिए ऑपरेशन किया है। पिंकी की मौत होते ही मौके पर मौजूद पति मुकेश व ससुर सास ने ग्वालियर में रहने वाले अपने रिश्तेदारों को अस्पताल बुलाकर डॉक्टरों पर गलत इलाज करने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। आधी रात में हॉस्पीटल में हंगामे की खबर मिलते ही माधवगंज चाने से पुलिस दल मौके पर जा पहुंचा और हंगामा कर रहे परिजनों को शांत कराने के बाद आज सुबह मृतक पिंकी के शव को पीएम के लिए डेड हाउस भेजकर मर्ग कायम कर जाव शुरू कर दी है।

Posted By: anil.tomar

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close