• 11 दिसंबर को होगी आईएचएम में कार्यशाला

ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि। पर्यटन विभाग प्रदेश में होमस्टे की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए 11 दिसंबर को स्थानीय आइएचएम संस्थान में कार्यशाला का आयोजन करने जा रहा है। कार्यशाला का उद्देश्य है कि होमस्टे योजना से प्रदेश में पर्यटकों को भारतीय संस्कृति, पंरपरा व परिवेश को अवगत कराना हैं।

कार्यशाला में ये लोग ले सकते हैं भाग:

- जिनके आवास में कम से कम एक व अधिकतम 6 कक्ष हैं।

- तेजी से बढ़ते हुए पर्यटन व्यवसाय से जुड़ना चाहते हैं।

- अपने व्यवसाय को नए लोगों के साथ मेलजोलके माध्यम से बढ़ाना चाहते हैं।

- स्थानीय गाइड, टूर एवं ट्रेवल्स, होटल आदि व्यवसाय से जुड़े हैं।

इसलिए हैं अंचल में होमस्टे योजना के सफल होने की संभावना: ग्वालियर चंबल पर्यटन की दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है। यहां पर पुरासंपदाएं हैं और पुराने किले हैं। साथ ही चंबल व सोन चिरैया सफारी हैं और नेशनल पार्क हैं। साथ ही सांस्कृतिक रूप से अंचल काफी समृद्ध है। ऐसे में पर्यटक यहां की संस्कृति को नजदीक से देखना व जानना चाहते हैं। होमस्टे के माध्यम से पर्यटक गांव या पर्यटक स्थलों पर लोगों के घरों में रहकर उनके खानपान से लेकर अन्य चीजों को देख सकते हैं।

Posted By: anil.tomar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags