ग्वालियर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। कुंज विहार कालोनी में रहने वाले बिजली कंपनी के कर्मचारी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। उसने तीन पेज का सुसाइड नोट लिखा है- जिसमें उसने अपनी पत्नी, ससुर, साला और अन्य मायके वालों काे मौत का जिम्मेदार बताया है। उसने सुसाइड नोट में लिखा है- पत्नी ने झूठा केस लगाकर पूरे घर को जेल भिजवाया, पूरा मकान अपने नाम कराने के लिए दबाव बना रही थी। कानून सिर्फ महिला के लिए है, वो झूठी रिपोर्ट कर दे और आदमी सच हो तब भी फंसेगा। गोला का मंदिर पुलिस ने सुसाइड नोट जब्त कर जांच शुरू कर दी है।

भिंड रोड स्थत कुंज विहार कालोनी फेस-2 का रहने वाला राहुल पुत्र स्व.भूरेलाल शर्मा बिजली कंपनी में कर्मचारी था। उसकी शादी 29 अप्रैल 2018 को अंबाह निवासी शिवानी पुत्री सुधाकर दंडोतिया से हुई थी। कुंज विहार कालोनी स्थित मकान आधा शिवानी और आधा राहुल के नाम था। बीते रोज राहुल ने खुदकुशी कर ली। मरने से पहले उसने सुसाइड नोट लिखा, जिसमें पत्नी और उसके मायके वालों को जिम्मेदार बताया। राहुल ने सुसाइड नोट में लिखा कि शादी के कुछ समय बाद ही उसकी पत्नी पूरा मकान उसके नाम करने के लिए दबाव बना रही थी। मकान में उसकी मां और भाई भी रहते थे। जब उसने पूरा मकान नाम करने से इनकार कर दिया तो वह छत से कूद गई। उसने पुलिस को बयान दिया कि उसे धक्का दिया गया है, इस मामले में उस पर और उसके भाई पर एफआइआर हुई। एफआइआर होने की वजह से जेल जाना पड़ा। फिर जब चार माह बाद जेल से छूटे तो उसने मकान नाम करने के लिए कहा, इसके बाद राजीनामा किया। जब आधा मकान नाम करा लिया तो फिर से पूरा मकान नाम कराने के लिए कहने लगी। सुसाइड नोट में उसने लिखा है कि वह और उसके मायके वाले फिर से जेल भेजने की धमकी देने लगे थे। वह रोज-रोज की प्रताड़ना से तंग आकर आत्महत्या कर रहा है। उसने लिखा है उसकी जो संपत्ति है, वह बच्चों को दी जाए। स्वजनों को परेशान न किया जाए।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close