Zodiac change 2021: विजय सिंह राठाैर, ग्वालियर नईदुनिया। मंगल ग्रह कन्या राशि से तुला राशि में 22 अक्टूबर शुक्रवार को सुबह 2 बजे प्रवेश करेंगे। इसी राशि में वे 4 दिसंबर 2021 तक रहेंगे। ज्योतिषाचार्य सुनील चोपड़ा ने बताया कि इस राशि में सर्वप्रथम मंगल अपने ही नक्षत्र चित्रा में होंगे। उसके बाद राहु तथा गुरु के स्वाति और विशाखा नक्षत्र में भ्रमण करेंगे। तुला राशि मे सूर्य ग्रह भी विद्यमान है, इसलिए तुला राशि मे सूर्य व मंगल की युति बनेगी। ज्योतिष शास्त्र में मंगल को महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। मंगल ग्रह को ग्रहों में सेनापति का दर्जा प्राप्त है। मंगल ग्रह को ज्योतिष शास्त्र में युद्ध का कारक ग्रह भी माना जाता है। मंगल को उग्र स्वभाव वाला ग्रह माना गया है, इसके साथ मंगल ग्रह अग्नि तत्व प्रधान होने के कारण मंगल को साहस, ऊर्जा, आत्मविश्वास, तकनीक, सेना, पुलिस और अग्नि आदि का कारक माना गया है। मंगल जब अशुभ ग्रहों के संपर्क में आता है तो व्यक्ति को दुर्घटना, आपरेशन, दांतों की समस्या आदि प्रदान करता है। मेष, मिथुन, कर्क, सिंह, तुला और धनु राशियों के लिए यह गोचर विशेष रूप से अनुकूल है। मंगल ग्रह के प्रभाव से आप ऊर्जावान रहेंगे। जीवन साथी के साथ रिश्ते मजबूत होंगे। कार्यस्थल पर बास खुश रहेंगे।

नाेटः इस लेख में दी गई जानकारी/सामग्री/गणना की प्रामाणिकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। सूचना के विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/धार्मिक मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संकलित करके यह सूचना आप तक प्रेषित की गई हैं। हमारा उद्देश्य सिर्फ सूचना पहुंचाना है, पाठक या उपयोगकर्ता इसे सिर्फ सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त इसके किसी भी तरह से उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता या पाठक की ही होगी।

Posted By: vikash.pandey

NaiDunia Local
NaiDunia Local