खिरकिया। नवदुनिया न्यूज

नौतपा के एक दिन पहले यानी मंगलवार को दिन के तापमान में 4 डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। मई में यह अब तक सबसे बड़ी गिरावट है। झुलसाती गर्मी के बीच चली तेज हवा ने तपन के असर को कम कर दिया। अप्रैल और मई में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। लेकिन मंगलवार को शहर में अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सूर्य 25 मई को दोपहर 2.50 बजे रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। इसके साथ नौतपा की शुरुआत होगी। इसका प्रभाव 2 जून तक रहेगा। गर्मी के मौसम में नौतपा वह योग या कालखंड कहलाता है, जब सूर्य रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करता हैं। इसके बाद से लगभग नौ दिनों तक सूरज के ताप से धरती झुलसती है। धरती पर मानों सूरज आंच की बारिश कराते हैं। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि प्री मानसूनी सक्रियता का दौर शुरू हो चुका है, ऐसे में नौतपा के दौरान गर्मी का असर अधिक नजर नहीं आएगा। इसका असर नौतपा शुरू होने के एक दिन पहले ही महसूस हो गया है।

25 मई से नौतपा का दौर शुरू होने के बावजूद भी प्री मानसूनी बादलों की बढ़ी सक्रियता लोगों को राहत दे सकती है। ज्योतिषीय गणना के अनुसार इस बार सूर्य 25 मई को दोपहर तक रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश कर जाएंगे। इसी के साथ ही देश के उत्तरी क्षेत्र में नौतपा की शुरुआत हो जाएगी। नौतपा का प्रभाव आगामी दो जून तक बना रहेगा। नौतपा के दौरान गर्मी का ज्यादा असर माना जाता है। इस दौरान तेज धूप के साथ ही लू का भी काफी असर रहता है। लेकिन इस बार नौतपा के दौरान ही प्री-मानसून की सक्रियता भी शुरू हो रही है। इसकी वजह से माना जा रहा है कि नौतपा का ताप अधिक प्रभावी नजर नहीं आएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close