हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

जिले में सोमवार को समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी शुरू हुई, लेकिन पहले दिन महज औपचारिकता पूरी की गई। उपज मंडी परिसर में स्थित शासकीय गोदाम में खरीदी शुरू की गई। जहां पर मूंग बेचने आए किसानों का कृषि मंत्री कमल पटेल ने तिलक लगाकर एवं माला पहनाकर स्वागत किया। इस दौरान कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि कहा कि समर्थन मूल्य पर मूंग खरीदी के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वाले या मूंग खरीदी के नाम पर दलाली करने वालों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई जाएगी। उन्होंने किसानों से कहा कि यदि कोई मूंग खरीदी के लिए रुपये की डिमांड करता है, तो किसान सीधे उनके नंबर पर काल करे, जिस पर तुंरत कार्रवाई की जाएगी। कार्यक्रम में कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि देश में मूंग का सर्वाधिक उत्पादन मध्यप्रदेश राज्य में ही होता है और प्रदेश में सर्वाधिक मूंग उत्पादन वाले जिलों में हरदा जिला भी शामिल है। उन्होंने कहा कि ग्रीष्मकालीन मूंग का प्रति हेक्टेयर उत्पादन मध्यप्रदेश में सबसे अधिक हरदा जिले में ही होता है। कृषि मंत्री पटेल ने कहा कि जिले का प्रति हेक्टेयर उत्पादन 15.90 क्विंटल है। इस दौरान नगर पालिका अध्यक्ष भारती कमेडिया, भाजपा जिलाध्यक्ष अमरसिंह मीणा, पूर्व नपाध्यक्ष सुरेंद्र जैन, कृषि उपसंचालक एमपीएस चंद्रावत व मंडी सचिव संजीव श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी व जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

पहले दिन पांच केंद्र बनाए

समर्थन मूल्य पर मूंग की खरीदी के लिए जिले में पहले दिन पांच केंद्र बनाए गए। लेकिन खरीदी नाममात्र की हुई है। बता दें कि जिले में करीब 35 खरीदी केंद्र बनाना प्रस्तावित हैं। इसके लिए प्रक्रिया की जा रही है। इसके साथ ही खरीदी केंद्र बनाने के लिए समितियों का चयन किया जा रहा है। वहीं पोर्टल भी दुरुस्त किया जा रहा है। शासन मूंग की खरीदी न्यूनतम समर्थन मूल्य 7 हजार 275 रुपए प्रति क्विंटल की दर पर कर रही है।

39 हजार 57 किसानों ने कराया पंजीयन

जिले में ग्रीष्कालीन मूंग की समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए पंजीयन की प्रक्रिया 28 जुलाई तक की गई। इसके लिए जिले में 49 पंजीयन केंद्र बनाए गए थे। जहां पर 39 हजार 57 किसानों ने पंजीयन कराया है। इसमें 98 हजार 921 हेक्टेयर रकबे का पंजीयन हुआ है। जिले के 491 गांव के किसानों पंजीयन कराया है। बता दें कि जिले की तीन मंडियों में 1 मई से 28 जुलाई तक 2 लाख 90 हजार 200 क्विंटल मूंग बेचा जा चुका है। इस बार जिले में सबसे अधिक 1 लाख 38 हजार 800 हेक्टेयर में मूंग की बोवनी की गई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close