खिरकिया। नवदुनिया न्यूज

ब्लाक के सरकारी स्कूलों में नौवीं से बारहवीं तक की छमाही परीक्षाएं सोमवार से बोर्ड के बदले हुए पैटर्न पर आफलाइन मोड में शुरू हुई। सरकारी स्कूल में दूसरे दिन मंगलवार को छमाही परीक्षा में 11वीं का पर्चा प्रारंभ हुआ। दो-चार विद्यार्थियों को छोड़कर लगभग सभी विद्यार्थियों की उपस्थिति रही। स्कूलों में शारीरिक दूरी बनाकर बच्चों की परीक्षा ली गई। उक्त परीक्षाएं लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा अपने निर्धारित समय सारिणी के अनुसार आयोजित कराई जा रही है। कक्षावार प्रश्न पत्रों का प्रकाशन संचालनालय द्वारा किया गया था तो वहीं परीक्षा में पूरी गोपनीयता बरतते हुए सामग्री जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से स्कूलों को वितरित की गई। मुख्य परीक्षाओं की ही तरह सील बंद प्रश्न पत्रों के लिफाफे स्कूलों में भेजे गए और शिक्षकों की उपस्थिति में उन्हें परीक्षा के पूर्व खोला गया। कक्षा 9वीं में गणित का पेपर हुआ। वहीं दोपहर की पाली में कक्षा 10 वीं में अंग्रेजी विषय का पेपर हुआ। विभाग ने कक्षा 9वीं व 11 वीं की परीक्षा सुबह 9 से 11 बजे के बीच आयोजित की है। जबकि 10 वीं और 12वीं की परीक्षा 12.30 बजे से 3.30 बजे तक आयोजित की गई। यह परीक्षाएं पेन और पेपर मोड पर आयोजित की गई थी, क्योंकि अभी तक कोरोना संक्रमण के चलते परीक्षाएं नहीं हो पा रहीं थी। इस बार छमाही परीक्षा बोर्ड के बदले पैटर्न पर ली जा रही है। हर प्रश्नपत्र में 40 फीसद वस्तुनिष्ट प्रश्न पूछे जा रहे हैं। वहीं दीर्घ उत्तरीय प्रश्नों की संख्या कम है। वस्तुनिष्ट प्रश्न अधिक होने से पेपर देने के बाद विद्यार्थियों के पास समय बच रहा है, जिससे वे उत्तरपुस्तिका को अच्छे से दोहरा पा रहे हैं। नौवीं के विद्यार्थियों ने कहा कि गणित का प्रश्नपत्र आसान रहा। कोई भी प्रश्न कोर्स से बाहर क नहीं पूछा गया था। इस दौरान विद्यार्थी भी शांति से परीक्षा देते नजर आए।

परीक्षाओं में उपस्थिति औसतन 95 प्रतिशत रही

परीक्षा के दौरान कोरोना गाइड लाइन का पालन किया गया। चूंकि बड़ी कक्षाओं की परीक्षाएं पूर्व निर्धारित थी इसलिए विभाग द्वारा भी परीक्षाओं में कोई बदलाव नहीं किया गया था। उत्कृष्ट विद्यालय के प्राचार्य मनोज झिंगनने बताया कि परीक्षाओं में उपस्थिति औसतन 95 प्रतिशत रही। कोरोना संक्रमण की वजह से सभी जरूरी सावधानी बरती गई है। बीईओ ने बताया कि कापियों के मूल्यांकन को लेकर विभाग ने तेजी लाने को कहा है। विषयवार शिक्षको को मूल्यांकन के लिए कापियां दे दी गई है। कापियों का मूल्यांकन करीब चार दिन के भीतर होगा। परीक्षा खत्म होने के चार से पांच दिन के भीतर नतीजे जारी करने की कोशिश होगी।जानकारी के अनुसार स्कूल शिक्षा विभाग छमाही परीक्षा की समीक्षा करेगा। खासतौर पर दसवीं व बारहवीं कक्षा की समीक्षा कर जो विद्यार्थी जिस भी टापिक से प्रश्न साल्व नहीं कर पाए होंगे, उन प्रश्नों को चिन्हित कर उन्हें फिर से कराया जाएगा। बता दें कि प्रदेश में बोर्ड परीक्षाएं 17 फरवरी से शुरू होंगी। अभी ढाई माह का समय शेष है। ऐसे में परीक्षा के बाद रिवीजन कक्षाएं लगाई जाएंगी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local