Harda Crime News हरदा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। सूदखोरों से परेशान एक युवक ने मौत को गले लगा लिया है। युवक ने अपने गांव से शहर के एक लाज में जहरीले पदार्थ खा लिया। तबीयत खराब होने पर युवक को लाज का कर्मचारी जिला अस्पताल इलाज कराने लेकर पहुंचा, लेकिन इलाज के दौरान युवक ने दम तोड़ दिया। अस्पताल चौकी से मिली जानकारी के अनुसार मृतक युवक सूदखोरों से परेशान था, इसका जिक्र सुसाइड नोट में किया है।

मृतक ने सूदखोरों पर आरोप लगाए हैं कि वह कर्ज से ज्यादा राशि लौटा चुका है। जिला अस्पताल चौकी प्रभारी एआर मामौरिया ने बताया कि मृतक के पास से सुसाइड नोट मिला है। इसमें कर्जदार से परेशान होकर खुदकुशी करने की बात लिखी गई है। अस्पताल चौकी प्रभारी मामोरिया ने बताया कि सिटी कोतवाली थाना क्षेत्र के ग्राम मंझली निवासी नीरज (33 वर्ष) पिता रामचंद्र बांके शहर के माल में बीते एक महीने पहले नौकरी पर लगा था।

सोमवार सुबह वह रोजाना की तरह घर से काम के लिए हरदा आया था। इस दौरान उसने सरस्वती लाज में जहरीली दवा पी ली। तबीयत बिगड़ने पर उसने लाज के कर्मचारियों को बताया। जिसके बाद वे उसे जिला अस्पताल लेकर आए जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

पुलिस ने बताया कि मृतक के पास मिले सुसाइड नोट में उसने कमल डाक्टर नामक किसी व्यक्ति से 2 लाख 60 हजार रुपये उधार लेने की बात लिखी, जिसके एवज उसकी जमीन की ऋण पुस्तिका और स्टांप लिखवाया था। जिसके बाद उसने एक बार ढाई लाख नकद और 50 हजार रुपये किसी एक अन्य के खाते में मोबाइल एप से वापस किए थे।

लेकिन उसके बाद भी वह उससे 3 लाख 10 हजार की मांग कर रहा है। वहीं धमकी दे रहा है कि यदि किसी से बोला या फोन लगाया तो तेरी जमीन रख लूंगा। इसी के चलते यह कदम उठा रहा हूं। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

इधर सिटी कोतवाली थाना प्रभारी अनिल राठौर ने बताया कि मामले की जांच चल रही है। वहीं पुलिस अधीक्षक मनीष कुमार अग्रवाल ने बताया कि मामले की जांच की जा रही। सूदखोरों द्वारा परेशान करने की बात सामने आई तो मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close