- शासन से मिले निर्देश, टिमरनी के सायलो प्लांट पर दो केंद्रों पर खरीदी प्लानिंग भी टली

खेती किसानी

100 केंद्र बनाए गए हैं जिले में इस बार खरीदी के लिए

पहले 25 मार्च से फिर 1 अप्रैल से होना थी गेहूं की खरीदी

नोटः फोटो आ रहा है

हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

कोरोना संक्रमण के चलते चल रहे 21 दिन के लॉकडाउन के कारण दूसरी बार समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी टल गई। पहले 25 मार्च से शुरू होने वाली खरीदी की तारीख 1 अप्रैल की गई। इसके बाद 1 अप्रैल से होने वाली खरीदी भी टाल दी गई है। फिलहाल खरीदी शुरू होने की नई तारीख तय नहीं हो सकी है। मंत्रालय के निर्देश पर खरीदी टाल दी गई है। बता दें कि जिले में गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए 100 केंद्र बनाए गए हैं। इसमें एक महिला स्वसहायता समूह के केंद्र शामिल है। जिले में पहले से गेहूं खरीदी की तैयारी की गई है। विभाग के अनुसार जिले के सरकारी गोदामों व वेयर हाउस की भंडारण क्षमता के साथ-साथ जिले के निजी गोदामों में भी 70 हजार टन की भंडारण क्षमता रिजर्व रखी गई है। इसके साथ ही सायलो प्लांट में भी 10 हजार 500 टन की भंडारण क्षमता उपलब्ध है। इसके अतिरिक्त 50 हजार टन भंडारण क्षमता के ओपन कैंप भी बनाने की बात कही जा रही है। जिले में इस बार 35 गोदामों में बनाए गए। खरीदी केंद्रों में 4 लाख 60 हजार टन अनाज गोदामों व वेयर हाउसों में रखने के लिए भंडारण क्षमता मौजूद है। पिछले वर्ष 23 गोदामों में उपार्जन केंद्र बनाए गए थे। इस वर्ष 37 हजार हेक्टेयर गेहूं का रकबा बढ़ने की स्थिति को ध्यान में रखकर तैयारी की गई है।

51 समिति और एक महिला समूह तैयारः जिले में 51 सहकारी समिति एवं 1 महिला स्वसहायता समूह गेहूं की खरीदी करने को तैयार किया गया है। जिले में 51 सहकारी समितियों के 97 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। वहीं हरदा के प्रगतिशील स्वसहायता समूह हरदा के दो खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। ग्राम कनारदा और ग्राम रोलगांव में महिला स्वसहायता समूह के दो खरीदी केंद्र बनाए गए। वहीं एक खरीदी केंद्र जिला उपभोक्ता भंडार हरदा का बनाया जाएगा। विभागीय सूत्रों ने बताया कि 1 अप्रैल से टिमरनी के बघवाड़ स्थित सायलो प्लांट में खरीदी शुरू करने की तैयारी की गई थी। लेकिन स्थगित कर दी गई।

आज नहरों में पानी भी नहीं छोड़ा जाएगाः ग्रीष्मकालीन मूंग के लिए नहरों में पानी छोड़ने का मामला भी टल गया। 1 अप्रैल से जिले की नहरों में पानी छोड़ने का निर्णय लिया गया था, लेकिन लॉकडाउन के कारण फिलहाल टाल दिया गया है। इसकी अगली तारीख भी तय नहीं की गई है। सिंचाई विभाग के कार्यपालन यंत्री राकेश दीक्षित ने बताया कि तवा परियोजना के अधीक्षण यंत्री एसके सक्सेना के निर्देश दिए कि लॉकडाउन के कारण 1 अप्रैल से नहरों में पानी नहीं छोड़ा जाएगा। अगली तारीख जल्द बताई जाएगी।

वर्जन

लॉकडाउन के चलते जिले में शासन के निर्देश पर समर्थन मूल्य पर 1 अप्रैल से होने वाली स्थगित कर दी गई है। फिलहाल शासन से अगली तारीख बताई गई है। अगली तारीख तय होने पर खरीदी की जाएगी। पहले सायलो प्लांट पर खरीदी शुरू करने की तैयारी थी। लेकिन शासन के निर्देश पर आगामी आदेश तक स्थगित की गई।

-अनुराग वर्मा, कलेक्टर, हरदा

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना