हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

शहर के रेलवे स्टेशन पर प्लेटफार्म नंबर दो एवं तीन पर वर्षों बाद शुरू हुआ प्लेटफार्म लंबाई बढ़ने का कार्य एक बार फिर रुक गया है। स्थिति यह है कि खंडवा की ओर जाने वाली ट्रेन के अंतिम बोगी में बैठे यात्रियों को स्टेशन पर चढ़ने-उतरने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इटारसी की ओर से आने वाली ट्रेन प्लेटफार्म नंबर तीन पर लगती है, लेकिन प्लेटफार्म की लंबाई छोटी होने के कारण यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता था। रेलवे द्वारा व्यवस्थाओं में सुधार के बाद प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ाने का कार्य शुरू किया गया, लेकिन अब वाटर सप्लाई पाइप लाइन डालने के काम के कारण बाकी निर्माण कार्य रुक गया है। यह निर्माण कार्य विगत एक माह से अधिक समय से रुका हुआ है। जिसके कारण ट्रेनों में चढ़ते-उतरते समय यात्रियों को दिक्कत हो रही है। रेलवे स्टेशन की लंबाई बढ़ाने का काम ठेकेदार द्वारा शुरू कर दिया गया था। प्लेटफार्म नंबर दो एवं तीन पर यह निर्माण कार्य किया जा रहा है। ट्रेनों की लंबाई अधिक होने के कारण इटारसी और खंडवा की ओर जाने वाली अधिकारी ट्रेने प्लेटफार्म के बाहर खड़ी हो जाती थी, जिससे लोगों को ट्रेन में चढ़ने-उतरने में काफी दिक्कत होती है। लेकिन लंबाई बढ़ने के बाद से यह समस्या खत्म हो जाएगी।

दुर्घटनाग्रस्त हो रहे यात्रीः इटारसी की ओर से आने वाली ट्रेनों की बोगियां अधूरे पड़े प्लेटफार्म पर खड़ी होती है। शाम के समय इस क्षेत्र में अंधेरा होने के कारण निर्माण सामग्री दिखाई नहीं देती है। जिसके कारण आए दिन यात्री दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं। वहीं ट्रेन से उतरने के दौरान कई बार पैर फिसल जाता है। वहीं महिलाओं को भी ट्रेन में चढ़ने-उतरने के दौरान काफी परेशानी होती है। रेलवे की लापरवाही का खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है।

44 मीटर बढ़ना है लंबाई

ठेकेदार दिनेश कुमार चौकसे द्वारा यह काम करवाया जा रहा है। रेलवे ठेकेदार चौकसे ने बताया कि प्लेटफार्म नंबर तीन के इटारसी वाले हिस्से की लंबाई कम होने से पंजाबमेल, झेलम, हावड़ा मेल सहित अन्य बड़ी ट्रेनों की दो बोगियां प्लेटफार्म के नीचे ही खड़ी रहती हैं। प्लेटफार्म की लंबाई बढ़ने के बाद लोगों को फायदा होगा। रेलवे के सीनियर सेक्शन इंजीनियर केके महाजन ने बताया कि पूर्व में प्लेटफार्म की 44 मीटर लंबाई बढ़ाई जाना तय की गई थी, लेकिन निर्माणाधीन प्लेटफार्म के अंतिम भाग में विकलांगों के आने-जाने के लिए पाथवे भी बनाया जा रहा है। प्लेटफार्म के किसी भी हिस्से में पाथवे नहीं होने से विकलांग यात्रियों को प्लेटफार्म तक पहुंचाने अथवा बाहर ले जाने के लिए परेशान होना पड़ता था। पाथवे बनने से ऐसे यात्रियों को भी राहत मिलेगी, इसलिए प्लेटफार्म की लंबाई 40 मीटर कर दी गई है। यह काम लगभग 25 लाख रुपये की लागत से किया जा रहा है। निर्माणाधीन प्लेटफार्म के दोनों तरफ 40-40 पत्थर लगाए जाएंगे।

यात्रियों ने बताई समस्या

1. सुबह करीब 12 बजे इटारसी की ओर जाने वाली कुशीनगर एक्सप्रेस स्टेशन पहुंची। खंडवा से हरदा का सफर कर रहे फाइल वार्ड निवासी जब्बार खान ने बताया कि अधूरे प्लेटफार्म के कारण दिक्कत होती है। उन्होंने बताया कि निर्माण सामग्री पड़ी होने से सावधानी से ट्रेन में चढ़ना पड़ता है।

2. बारह बंगला के रहने वाले दिनेश कागजे ने बताया कि वह छनेरा के एक शासकीय विभाग में काम करते हैं। सुबह प्लेटफार्म तीन से उन्हें ट्रेन पकड़ना पड़ती है। लेकिन निर्माण सामग्री पड़ी होने के कारण वह दो बार गिर चुके हैं। उन्होंने बताया कि पहले ही एक्सीडेंट के कारण पैर में रॉड डली है।

वर्जन

निर्माण कार्य चल रहा है, लेकिन अभी वाटर सप्लाई कार्य नहीं हो पाया है। इसके कारण निर्माण कार्य अधूरा पड़ा है। जल्द ही बाकी विभागों से चर्चा कर कार्य पूरा कराया जाएगा। ताकि यात्रियों को बेहतर सुविधा मिल सकें।

केके महाजन, सीनियर सेक्शन इंजीनियर

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags