हंडिया। नवदुनिया प्रतिनिधि

बुधवार को कृषि मंत्री कमल पटेल हंडिया के गुरुद्वारा में पहुंचे और गुरुद्वारा के बारे में जानकारी ली। खत्री समाज के श्याम सुंदर ने बताया कि सिख समाज के आराध्य गुरु गोविंद सिंह द्वारा लिखी गई सनद 400 वर्ष पुरानी है, वह आज भी सुरक्षित रखी हुई है। यह सनद उन्होंने रिद्धनाथ मंदिर के तत्कालीन पुजारी पंडित गोकुल प्रसाद के पूर्वजों को दी थी। इस सनद को हासिल करने के लिए अनेक लोगों ने इस परिवार को बहुत से लालच भी दिए गए। लेकिन पूर्वजों की अमानत को उन्होंने अधिक प्यार से सहेजकर रखा गया है। यह बात सन 1708 की है। जब गुरु गोविंद सिंह इस मार्ग से होकर अमृतसर से नांदेड़ की ओर जा रहे थे। तब टप्पा तहसील हंडिया उस समय पट्टन के नाम से जाना जाता था। उन्होंने उस समय विश्राम करने के समय यहां अपना पड़ाव डाला था। तब पंडित लालचंद के पुत्र बांदरवाल और धारवाल ने गुरुजी की सेवा की थी। इससे प्रसन्ना होकर उन्होंने भोजपत्र जैसे एक कागज पर अपने हाथों से सनद लिखकर उन्हें सौंपी थी। पांच पीढ़ियों के बाद भी आज छठी पीढ़ी के पंडित गोकुल प्रसाद के पास रखी हुई थी। पंडित जी का स्वर्गवास होने के बाद उनके दत्तक पुत्र वर्तमान में रिद्धिनाथ मंदिर के पुजारी नवीन व्यास के सनद रखी हुई है। व्यास परिवार द्वारा सिख समाज की सनद को सहेज कर रखने के लिए कृषि मंत्री कमल पटेल ने बुधवार को उनके घर जाकर परिवार के लोगों का फूल माला से सम्मान किया गया। इसके बाद उसी समय हरदा कलेक्टर को निर्देश दिए कि आप इस प्राचीन गुरुद्वारा का स्टीमेट बनाकर तैयार करें। हम लोग इसका जीर्णोंद्धार कार्य करेंगे। कृषि मंत्री के साथ उनकी धर्मपत्नी रेखा पटेल भी गुरुद्वारा पहुंचीं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags