हरदा (नवदुनिया प्रतिनिधि)। कोरोना संक्रमण से बच्चों को बचाने के लिए जिले प्राथमिक एवं माध्यमिक स्कूलों में हैंडवॉश यूनिट लगाई जाएगी। इसके लिए राज्य शिक्षा केंद्र ने जिले के 89 स्कूलों का चयन किया है। जिन स्कूलों में हैंडवॉश की व्यवस्था नहीं थी। जिले में स्वीकृत हैंडवॉश यूनिट को बाल मित्र व कोविड - 19 के प्रोटोकाल अनुसार जल्द ही निर्माण कार्य कराया जाएगा। स्कूल पहुंचने वाले विद्यार्थियों को हैंडवॉश के लिए 10 मिनट का अतिरिक्त समय भी दिया जाएगा। ताकी बच्चों द्वारा अच्छे तरीके से हाथ धो सकें। हैंडवॉश यूनिट में शारीरिक दूरी के लिए नल भी 6 - 6फीट की दूरी पर लगाए जाएंगे। ताकी बच्चों को दिक्कत भी न हों। स्कूलों के खुलने से पहले उनमें कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए शासन पूरी तरह से तैयारी में जुट गया है। राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा कोरोना से बचाव के लिए स्कूलों में यह व्यवस्था की जा रही है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय एमएचआरडी ने मप्र स्कूल शिक्षा विभाग को निर्देश दिए थे, कि प्रत्येक स्कूल में बच्चों को हाथ धोने के लिए व्यवस्था होनी चाहिए। इसके लिए स्कूलों में हैंडवॉश यूनिट का निर्माण किया जाए और बच्चों में हाथ धोने की आदत डाली जाए।

89 स्कूलों में लगेगी हैंडवॉश यूनिट

स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा प्राथमिक और माध्यमिक शालाओं में में हैंडवॉश यूनिट बनाने का निर्णय लिया। इसके लिए विभाग ने जिले के 89 स्कूलों के लिए 13 लाख 35 हजार रुपए की राशि स्वीकृति कर दी है। विभाग द्वारा प्रत्येक यूनिट के लिए 15 हजार रुपये स्वीकृत किए है। इस राशि से स्कूल में खाली स्थान पर यूनिट का निर्माण कार्य किया जाएगा।

हैंडवॉश यूनिट में रहेंगी सभी सुविधाएं

स्कूलों के हैंडवॉश यूनिट में सभी सुविधाएं भी उपलब्ध होंगी। इस यूनिट में 10 से 12 नल होंगे। लेकिन, सभी 6-6 फीट की दूरी पर होंगे। यूनिट में पानी की टंकी, साबुन, हैंडवॉश लिक्विड आदि की व्यवस्था होनी चाहिए। सभी स्कूलों को यूनिट के निर्माण के बाद फोटोग्राफ्स भी विभाग के वेबसाइट पर अपलोड करना है। स्कूल की समय-सारिणी में लंच से पहले 10 मिनट का समय बच्चों के हाथ धोने के लिए शामिल किया जाएगा।

200 से अधिक विद्यार्थियों वाले स्कूलों का चयन

जिले के ऐसे स्कूल जहां पर 200 से अधिक विद्यार्थी अध्ययनरत हैं, ऐसे स्कूलों में दो यूनिट लगाने के लिए प्रति स्कूल 15 हजार रुपए जारी किए गए हैं। पर 600 रुपए जीएसटी कटे जाने के कारण स्कूल प्रबंधन को 14 हजार 400 रुपए उपलब्ध होंगे। इसके साथ ही यूनिसेफ द्वारा निर्मित हैंडवॉश यूनिट की डिजाइन भी भेजी गई है। स्कूल की समय - सारिणी में लंच से पहले 10 मिनट का समय बच्चों के हाथ धोने के लिए शामिल किया जाएगा। इसके अलावा बच्चों को हाथ धोने और स्वच्छता के प्रति जी जागरूक किया जाएगा।

जल्द ही जारी करेंगे निर्माण राशि

जिले के 89 स्कूलों में हैंडवाश यूनिट लगाई जाना है। यहां यूनिट लगाने के लिए राज्य शिक्षा केंद्र द्वारा राशि जारी हो गई है। जो जल्द ही जिले में मौजूद स्कूलों के खातों तक जल्द पहुंच जाएंगे। अगले हफ्ते में इन स्कूलों में निर्माण कार्य शुरू भी शुरू हो जाएगा।

- डीएस मरावी, डीपीसी

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags