हरदा/हंडिया। नवदुनिया प्रतिनिधि

दो साल बाद नर्मदा किनारे हंडिया एवं नेमावर घाट पर भूतड़ी अमावस्या पर हजारों की संख्या में स्नान करने के लिए श्रद्धालु के पहुंचने की संभावना है। आगामी 6 अक्टूबर को सर्व पित्र मोक्ष अमावस्या है। इसे भूतड़ी अमावस्या भी कहा जाता है। इस दिन हंडिया और नेमावर में लाखों श्रद्धालु नर्मदा स्नान करने पहुंचते हैं। हंडिया एवं नेमावर घाट पर भूतड़ी अमावस्या का मेला एक दिन पहले ही 5 अक्टूबर की रात्रि में लगता है। जहां पर श्रद्धालु पहुंचते हैं। इसके बाद अमावस्या की सुबह नर्मदा में अमावस्या के पर्व पर स्नान करके लौटते हैं। बता दें कि 6 अक्टूबर को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का कार्यक्रम भी हरदा जिला मुख्यालय में होगा।

व्यवस्था के लिए दिए निर्देशः मंगलवार को सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या पर आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था करने के लिए जिला प्रशासन के निर्देश में अधिकारियों ने ग्राम पंचायत हंडिया में बैठक आयोजित की। जिसमें एसडीएम श्रुति अग्रवाल, तहसीलदार डॉ अर्चना शर्मा और हंडिया थाना प्रभारी सीएस सरेआम, वनपाल वहीद खान के अलावा जनपद सीइओ, पीडब्ल्यूडी विभाग के एसडीओ, बिजली विभाग सहित अन्य विभाग के कर्मचारी अधिकारी उपस्थित रहे। इस दौरान एसडीएम ने सभी विभाग को घाटों पर सुरक्षा एवं व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

घाट पर लगाते हैं देवधाम : अमावस्या की पूर्व रात के समय में लोग दूर-दराज से नर्मदा घाट पर पहुंचते हैं। जहां पर देवधाम भी लगाते हैं। पिछले 2 सालों से कोरोना महामारी के चलते हुए नर्मदा स्नान करने पर प्रतिबंध लगा हुआ था। लेकिन इस बार भी उसी गाइडलाइन के पालन करते हुए नर्मदा स्नान करने की अनुमति दी जाएगी। लेकिन प्रशासन द्वारा धारा 144 का पालन कराने के लिए भीङ एकत्रित नहीं होने देने की बात कही जा रही है। वहीं कोरोना गाइडलाइन का पालन करने पर ही स्नान करने के लिए अनुमति दी जाएगी।

वर्जन

जिले में धारा 144 लगी हुई है, इसका पालन किया जाएगा। इसे देखते हुए ही भूतड़ी अमावस्या पर स्नान की व्यवस्था रहेगी। साथ ही कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाना जरूरी है। मंगलवार को बैठक का आयोजित की गई थी, जिसमें अमावस्या को लेकर तैयारी एवं व्यवस्थाओं पर चर्चा की गई।

- डॉ अर्चना शर्मा, तहसीलदार, हंडिया

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local