हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

मंगलवार को हंडिया स्थित नगर पालिका के संयंत्र के पास तेंदुआ दिखने का मामला सामने आया है। संयंत्र कर्मी ने देखकर फोटो भी क्लिक की। इसके बाद वन विभाग का अमला जांच करने भी पहुंचा। लेकिन अंधेरा होने के कारण जांच नहीं कर सका। वन अमले के अनुसार हंडिया स्थित जल संयंत्र के पास एक जानवर दिखा है। लेकिन यह जानकारी तेंदुआ है। इसकी पुष्टी नहीं हो सकी है। बुधवार को सुबह मंगलवार की शाम देखे गए वन्य प्राणी के पग निशान की जांच की जाएगी। मंगलवार को वन्यप्राणी देखे गए स्थान पर जांच की जाएगी। इसके साथ आसपास के इलाके में जांच की जाएगी। मंगलवार की देर शाम वन विभाग के एसडीओ संजय जैन को हंडिया भेजा गया। जहां ग्रामीणों को अलर्ट करने के लिए कहा गया है। इधर ग्राम हंडिया में तेंदूआ दिखने की सूचना देर शाम तक फैल गई। इससे आसपास के ग्रामीणों में दहशत है। ग्रामीणों ने बताया कि पहले कभी यहां पर वन्यप्राणी (तेंदुआ) नहीं देखा गया।

तेंदुआ जैसे लगा, पास होने से हिम्मत नहीं हुईः हंडिया स्थित नगर पालिका परिषद हरदा के जल संयंत्र में काम करने वाले राकेश टाले ने बताया कि मंगलवार को शाम करीब 5.30 बजे वे दूध लेने के लिए जल संयंत्र से हंडिया नगर जाने के लिए निकले। बाहर निकलते ही सामने खेत में लगी ज्वार के आगे तेंदुआ दिखा। समझ में आने के बाद हिम्मत ही नहीं हुई। डर के बावजूद उन्होंने फोटो खींच लिया। जिसमें हल्का-सा कोई वन्य प्राणी नजर आ रहा है। उन्होंने बताया कि वन्य प्राणी से दूरी कम होने के कारण ठीक से फोटो नहीं खिंच सका। हिम्मत ही नहीं हुई।

आज पग चिन्हों की जांच होगी : हंडिया रेंज आफिसर दुर्गेश सिंह बिसेन ने बताया कि उन्हें हंडिया स्थित नगर पालिका परिषद हरदा के जल संयंत्र के पास वन्य प्राणी दिखने की सूचना मिली थी। इस पर पहुंचे भी। लेकिन अंधेरा होने के कारण जांच नहीं कर सके हैं। ग्रामीण द्वारा देखा गया वन्यप्राणी तेंदुआ ही है। इसकी पुष्टी नहीं हुई है। उन्होंने बताया कि बुधवार की सुबह बताए जा रहे स्थान पर पग चिन्हों की जांच करेंगे। इसके साथ ही आसपास के क्षेत्र में जांच की जाएगी।

वर्जन

हंडिया के पास स्थित नगर पालिका के जल संयंत्र के पास वन्यप्राणी मिलने की जानकारी स्टाफ को मिली है। अभी यह नहीं कहा जा सकता है कि वह तेंदुआ ही है या अन्य वन्यप्राणी। इसकी जांच के लिए वन विभाग के एसडीओ को भेजा गया है। साथ ही गांव के लोगों को अलर्ट करने के लिए भी कहा गया।

- नरेश दोहरे, डीएफओ, हरदा----

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local