हरदा। गुरुवार से शारदीय नवरात्र प्रारंभ हो गए हैं। घर और मंदिरों में विधि विधान से कलश स्थापना की गई। मां भगवती के प्रथम स्वरुप में शैलपुत्री माता का पूजन किया गया। 16 अक्टूबर तक चलने वाला नवरात्र महोत्सव का विधिवत शुभारंभ हुआ। सुबह के समय विधि विधान के साथ कलश स्थापना और मूर्तियों की प्राण प्रतिष्ठा की गई। सार्वजनिक पंडालों में मां दुर्गा की स्थापना की गई। कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत दुर्गा महोत्सव का आयोजन किया गया है। उधर, नवरात्रि के चलते शहर के दुर्गा मंदिर, चामुंडा मंदिर, सहित प्रसिद्घ मंदिरों में पूजा अर्चना करने के लिए देवी भक्तों का तांता लगा रहा। देवी भक्तों ने विधि विधान से मां भगवती की पूजा अर्चना कर परिवार की खुशहाली की कामना की। मां भगवती के जयकारों से मंदिर गूंज उठे हैं। देवी भक्तों ने उपवास रखकर माता रानी का ध्यान किया और उनकी पूजा-अर्चना की। श्री बजरंग बाबा दुर्गा उत्सव समिति द्वारा नवरात्रि के प्रथम दिन चल समारोह निकाला गया। जिसमें आइपीएल का ब्रास बैंड दिल्ली का प्रसिद्घ 31 कलाकरों की टीम ने चल समारोह में शानदार प्रस्तुति दी। इस दौरान राजस्थानी ऊठ भी थिरकें व अंतरास्ट्रीय रंगोली कलाकारों द्वारा अपनी कला से सड़कों पर आकृति उकेरी गई।

राजस्थानी ऊंटों ने किया नृत्य

राजस्थानी ऊंट नृत्य से लेकर रंगोली तक सबका जलवा रहा। श्री बजरंग बाबा दुर्गा उत्सव समिति द्वारा नवरात्रि के प्रथम दिन चल समारोह निकाला गया। इस दौरान राजस्थानी ऊंट भी थिरके व अंतरास्ट्रीय रंगोली कलाकारों द्वारा अपनी कला से सड़कों पर आकृति उकेरी गई।

रंगोली बनाकर किया माता रानी का स्वागत

समिति के सदस्य टीटू पंडित से मिली जानकारी के अनुसार चल समारोह में नई दिल्ली के म्यूजिकल ग्रुप द्वारा प्रस्तुति दी गई। वहीं एमपी, राजस्थान बॉर्डर से आए ऊंट का नृत्य आकर्षण का केंद्र बना रहा। इसके अलावा मुंबई के कलाकार सुंदर रंगोली बनाई गई। देवी की प्रतिमा जबलपुर के कलाकरों द्वारा निर्मित की गई है। नवरात्रि के पावन पर्व पर शहर में आइपील ट्राफी की सिग्नेचर जैसी धुन बजाने वाला दिल्ली का ख्याति प्राप्त चावला ब्रास बैंड द्वारा चल समारोह में शहर की प्रमुख सड़कों पर अपनी शानदार प्रस्तुति दी। वही इस बैंड के 31कलाकर देश के कई सेलेब्रिटी की बारातों की रौनक बढ़ा चुके है। चल समारोह में राजस्थानी उठ भी संगीत की थाप पर थिरकते नजर आएं। वही अंतरास्ट्रीय स्तर के रंगीली कलाकरो ने भी अपनी कला से चौराहों पर आकर्षक कलाकृति रंगोली से बनाई।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local