हरदा। नवदुनिया प्रतिनिधि

नवरात्र में देवी मंदिरों में ज्योत जवारे स्थापित कर विधि विधान से 9 दिनों तक पूजा अर्चना की गई। देवी मंदिरों में श्रद्घालुओं द्वारा प्रज्ज्वलित मनोकामना ज्योति कलश को गुरुवार को विसर्जित किया जाएगा। जवारे विसर्जन का सिलसिला सुबह से देर रात तक चलेगा। नवरात्र में नगर के देवी मंदिरों में ज्योति कलश प्रज्वलित किए गए थे। जवारे विसर्जन का सिलसिला बुधवार से शुरू होकर गुरूवार को देर रात तक चलता रहेगा। नवरात्र में नगर के देवी मंदिरों में ज्योति कलश प्रज्जवलित किए गए थे। इसके अलावा शहर में 50 से अधिक स्थानों पर माता रानी की प्रतिमा स्थापित की गई थीं। बुधवार - गुरुवार की दरमियानी रात को हवन पूजन का आयोजन किया गया। इसके बाद सुबह कन्या भोजन के साथ ही मातारानी को नम आंखों से विदा किया गया। प्रतिमा विसर्जन को लेकर नेमावर में कुंड बनाया गया है, जहां निर्धारित संख्या में लोगों को प्रवेश दिया गया। इधर विसर्जन को लेकर सुबह से ही मंदिरों में भक्तों की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई थी। जस गीतों व आरती से मां का आह्वान किया गया। मंदिर में विधि विधान के साथ पूजा अर्चना की गई। जवारे के दर्शन करने बड़ी संख्या में श्रद्घालु पहुंचे। इस दौरान जसगीत की धुन में भक्त झूमते रहे। हालांकि कोरोना संक्रमण होने के कारण शहर में कहीं भी सार्वजनिक रूप से गरबे का आयोजन नहीं किया गया।

नवमीं पर आज होगा कन्या भोजन : नवमीं पर पूर्णाहूति के बाद आज जगह - जगह कन्या भोज कराया जाएगा। कन्या भोज के लिए मंदिर व घरों के आसपास छोटे बधाों की पूछ परख बढ़ गई। बधाों को खीर, पूड़ी, हलवा के साथ भोजन कराया गया। पश्चात सबको श्रृंगार सामग्री के साथ श्रीफल भी दिए गए। कई स्थानों पर भंडारा हुआ।

देर रात में पूर्णाहुतिः नगर के विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर विराजित मां दुर्गा के पंडालों में मुहूर्त के अनुसार रात 11.30 बजे हवन पूजन का दौर शुरु हुआ। भक्तों ने बड़ी संख्या में अग्निकुंड में पूर्णाहूति डाली। पश्चात प्रसाद वितरण हुआ। इसी तरह गोलापुरा चौक, गणेश चौक, बड़ा मंदिर सहित अन्य स्थानों पर हवन पूजन व प्रसादी वितरण संपन्न हुआ।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local